हनुमान मंदिर परिसर मे चल रहे विष्णु महायज्ञ का आज आठवां दिन

रामकोला विकास खंड के गाँव सिधावे मे स्थित हनुमान मंदिर परिसर मे चल रहे विष्णु महायज्ञ के आठवें दिन कथा बाचक सखी जी महराज के द्वारा संगीत मयी कथा का रसपान कराया गया। कथा के दौरान बताया कि भगवान भक्ति के भूखे होते है। सखी जी महराज ने कृष्ण और सुदामा के मित्रता का बड़े ही सरल ढंग से समझाते हुये कहा कि निर्धन, असहाय, सुदामा की पत्नी द्वारा उनके परम प्रिय बचपन के सखा भगवान कृष्ण के प्रति सहारा प्राप्त करने की हठ को लेकर सुदामा कृष्ण से मिलने गये थे। कृष्ण अपने राजपाठ को एक तरफ रख और अपनी पत्नी रुकमणी को भी भूलकर अपने सखा सुदामा को बड़े भाव से भरी सभा मे गले लगाया था। यह मार्मिक प्रसंग हमे आज की भाग दौड़ की जिंदगी मे एक दूसरे के दुःख-सुख मे साथ देने के लिए प्रेरित करता है। उन्होने कथा के दौरान आगे कहा कि भगवान सर्वत्र है। ऐसा कोई कण नही जहाँ भगवान विराजमान नही है। ऐसा कोई क्षण नही, जब को नही। नित्य सुख और परम शान्ति केवल ईश्वर मे पाई जाती है। उन्होने कहा कि यज्ञ से मनोवाछित फल की प्राप्ति होती है। पृथ्वी पर जब जब असुरी प्रवृति के लोगो का आतंक बड़ा तब तब धर्म की रक्षा के लिए ईश्वर ने धरती पर मानव रूप मे अवतार लिया। इससे पूर्व कथा का शुभारम्भ मानस की आरती और फीता काटकर युवा समाज सेवी राजेश प्रताप राव ने किया। इस दौरान आयोजक बालक दास, रामप्रताप सिंह, राजकुमार सिंह, रामकैलाश सिह, अम्वरीष तिवारी, पन्ने लाल तिवारी, लालचंद मद्धेशिया, मोनू तिवारी, जिलापंचायत सदस्य शमसाद सोनू आदि उपस्थित रहे।

X

सर्कल कुशीनगर
अपने शहर का अपना ऐप

कप्तानगंज, कसया, खड्डा, तमकुहीराज, पडरौना… की हर खबर, वीडियो और भी बहुत कुछ! 👉

कुशीनगर में 10000 से भी ज्यादा लोग हैं इस ऐप पर, आप भी इस सर्कल का हिस्सा बनें 👉

सर्कल ऐप
इंस्टॉल करें