आज श्रीमदभागवतकथा का छठवां दिन

लालगंज नगर के बीएमपीएस खेल मैदान मे चल रही श्रीमदभागवतकथा के छठवें दिवस पर बोलते हुये श्रीश्री 1008 महामंडलेस्वर स्वामी आत्मानंद सरस्वती जी महराज ने कहा कि आदर्श   घर वही हो सकता है जहां गीता,रामायण,भागवत,तुलसी का पेड स्थापित हो और प्रतिदिन स्वच्छता के साथ भगवत भजन और आरती पूजन का कार्य होता है।स्वामी जी ने कहा कि जीव रूपी आत्मा चाहती है कि मेरा कल्याण हो लेकिन माया मोह उसे सत्कर्म मे नही लगने देती है।उस माया से छुटकारा पाने के लिये भागवत कथा ही एकमात्र साधन है।भारतीय संस्कृति की रक्षा भी भागवतकथा रसपान से ही सुरक्षित है।भागवतकथा सुनने से संस्कार रूपी ज्ञान का दर्शन होता है।कलियुग मे मानव कालरूपी संसार मे फंसा है।सत्य व न्याय को दबाने के चक्कर मे लगा रहता है।कालरूपी संसार से मुक्ती पाने के लिये परमात्मा का नाम भजते हुये उनके शरण मे जाने से ही मोक्ष प्राप्त हो सकता है।सहज आनंद भागवत कथा,श्रीरामकथा व गीता के अनुसरण से ही सम्भव है।मनुष्य ही क्या बडे बडे राजा महराजा भी सत्ता पाकर मदमस्त हो जाते है।स्वामी जी ने महाभारत काल की कथा का वर्णन करते हुये कहा कि चक्रवर्ती राजा युधिष्ठिर को भी घमंड हो गया था कि उनके द्वारा ही सभी का पालन पोषण किया जा रहा है।महात्मा श्रीकृष्ण ने उनके घमंड को देखकर उन्हे और अर्जुन को लेकर के ऊंचे पर्वतो पर गये।वहां अर्जुन से एक पहाडी को बाणो से तोडने को कहा।पहाडी टूटते ही उसके नीचे लाखो जीव विचरते हुये दिखायी पडे।तब धर्मराज युधिष्ठिर का माया मोह भंग हुआ और उनकी समझ मे आया कि जो परमात्मा सृष्टि का रचनाकार है वही सबका कल्याण करते है।कथा के समापन पर अयोध्या पति रामावतार के भी प्रसंग का वर्णन किया।राम जन्म से लेकर राम सीता विवाह तक का वर्णन स्वामी जी के द्वारा किया गया।अंत मे राम सीता विवाह की सजीव झांकी भी प्रस्तुत की गयी।सीता जी के द्वारा भगवान श्रीराम के जयमाल डालते ही भक्त राम सीता की जय जयकार कर उठे।पूरा पांडाल जय श्री राम जय श्री राम के उद्घोष से गुंजायमान हो उठा।आरती व प्रसाद वितरण के साथ कथा का समापन हुआ।इस मौके पर उमाशंकर बाजपेयी,रमासंकर बाजपेयी,अरूण कुमार सिंह,अनूप पाण्डेय,बबलू बाजपेयी,चक्रपाणि त्रिवेदी, हरिशंकर गुप्ता,रोहिणी तिवारी,सोनू त्रिवेदी,देवी कुमार गुप्ता,राकेश सिंह,कृपा शंकर गुप्ता,चन्द्रसेखर सिंह,लक्ष्मी हलवाई,रमेश कुमार,पुत्तन सिंह आदि हजारो लोग मौजूद रहे।  

X

सर्कल रायबरेली
अपने शहर का अपना ऐप

सलोन, लालगंज, डलमऊ, ऊंचाहार, महाराजगंज… की हर खबर, वीडियो और भी बहुत कुछ! 👉

रायबरेली में 15000 से भी ज्यादा लोग हैं इस ऐप पर, आप भी इस सर्कल का हिस्सा बनें 👉

सर्कल ऐप
इंस्टॉल करें