ग्रामीणों ने भरी हुंकार- विकास नहीं तो वोट नहीं

This browser does not support the video element.

इन दिनों देश में लोकसभा चुनाव का माहौल बना हुआ है, जिसको लेकर हर तरफ इसी पर चर्चा चल रही है, पूरे पांच वर्ष सरकार की मनमानी चलने के बाद वोटर की ताकत का आंकलन वोट के समय पर पता चलता है, जिसके चलते अलीगढ़ की तहसील कोल के गांव मूसेपुर जलाल परगना के ग्रामीणों ने अपने वोट की ताकत का प्रयोग अपने गांव में विकास के लिए करने का निर्णय लिया है,,,दरअसल इस गांव में एक पंचायत बुलाई गई और एक स्टाम्प पर गांव से जुड़ी मूलभूत समस्याओं को लिखते हुए निर्णय लिया गया कि पूरा गांव वोट बहिष्कार करेगा,,,,ग्रामीणों ने पूरे गांव में ""चुनाव बहिष्कार"" के होर्डिंग बैनर लगा रखे है, जिस पर लिखा है कोई रहे न चक्कर मे वोट मिलेगा विकास की टक्कर में,,,,पूरे गांव ने पंचायत करके चुनाव बहिष्कार करने का फैसला लिया है, यहाँ के ग्रामीणों का कहना है कि सांसद ने अभी तक कोई भी विकास कार्य नही कराया है, गांव में अभी तक सभी को शौंचालय नही मिले है, पानी निकास की विकराल समस्या है, गांव के सभी रास्ते खराब है, यहाँ तक कि सभी ग्रामीणों ने कहा है कि मोदी तो विकास चाहते है लेकिन पार्टी का प्रत्याशी यानी सांसद सतीश गौतम ने विकास पर ध्यान नहीं दिया, जिसके चलते ग्रामीणों ने एक मत होते हुए पंचायत कर स्टाम्प पेपर पर गांव में विकास न होने से नाराज शर्तों को लिखकर पीएम-सीएम व जिला प्रशासन को चुनाव बहिष्कार का ऐलान भेजा है, कि हम चुनाव का बहिष्कार कर रहे है, जिस सांसद ने 5 साल में कभी गांव की शक्ल नहीं देखी,, कोई भी विकास कार्य नही कराया तो हम वोट क्यों दे, अब किसी जुमले पर वोट नही मिलेगा, केवल विकास पर वोट दिया जाएगा, अगर किसी भी प्रत्याशी को वोट चाहिए तो मीडिया और अधिकारियों के सामने विकास कराने का राइटिंग में एग्रीमेंट करेंगे तब जाकर किसी भी प्रत्याशी को वोट दिया जाएगा,,,! वहीं स्कूली बच्चों ने भी अपनी समस्याएं कैमरे पर बताईं.

X

सर्कल अलीगढ़
अपने शहर का अपना ऐप

अलीगढ़, कोल, अतरौली, खैर, इगलास, गभाना... की हर खबर, वीडियो और भी बहुत कुछ! 👉

अलीगढ़ में 39000 से भी ज्यादा लोग हैं इस ऐप पर, आप भी इस सर्कल का हिस्सा बनें 👉

सर्कल ऐप
इंस्टॉल करें