प्लास्टिक और चाइनीज आइटमों ने लगाया ग्रहण, परिवार के भरण-पोषण के कुम्हारों पर पड़ रहे लाले

This browser does not support the video element.

चौक पर मिट्टी के नए-नए डिजाइन के बर्तन बनाने वालों के परिवार की रोजी रोटी राम भरोसे है. वर्षों से इसी काम में लगे कुम्हारों के धंधे को बाजार में प्लास्टिक और चाइनीज आइटमों ने ग्रहण लगा दिया है. कुम्हार गटुआ गणेश बाग स्थित एक छोटे से कमरे में रहकर अपने परिवार की गुजर-बसर करने में लगा हुआ है. लेकिन अब उसका परिवार संकट के दौर में है. क्योंकि बाजार में आधुनिकता का दौर है. इसलिए लोग प्लास्टिक से बने आइटम और चाइनीज आइटम पर ज्यादा ध्यान दे रहे हैं. इससे परिवार की स्थिति और बिगड़ती जा रही है. हालांकि आने वाले समय में दीपावली का भी बड़ा पर्व है और कस्बा में दशहरा मेला भी है. इस आस को लेकर गटुआ मिट्टी के तरह-तरह के बर्तन तैयार कर रहा है. लेकिन उसको चिंता यही है कि अब आने वाले समय में गुजर-बसर इस धंधे से नहीं होगा.

X

सर्कल मथुरा
अपने शहर का अपना ऐप

मथुरा, वृंदावन, छाता, महावन, मांट... की हर खबर, वीडियो और भी बहुत कुछ! 👉

मथुरा में 63000 से भी ज्यादा लोग हैं इस ऐप पर, आप भी इस सर्कल का हिस्सा बनें 👉

सर्कल ऐप
इंस्टॉल करें