देखें ख़ास बातचीत : 'सोनिया शर्मा' आगरा की बेटी, एक हाथ से चलती हैं पिस्तौल

This browser does not support the video element.

"पंखों से कुछ नहीं होता, हौसले से उड़ान होती है" किसी शायर की यह लाइनें बहुत लोगों ने पढ़ी और सुनी होगी, लेकिन थाना सदर क्षेत्र ताजनगरी की सोनिया शर्मा ने इसे खूब ठीक से समझा और साबित कर दिया है कि हौसले के दम पर आसमान भी हासिल हो सकता हैं. आगरा एकलव्य स्पोर्ट्स स्टेडियम की खिलाडी सोनिया शर्मा ने नेशनल गेम्स में उल्टे हाथ से जब पिस्तौल चलाई तो निशाना सीधा सिल्वर मैडल पर लगा. इतना ही नहीं भारत की सेकंड बेस्ट दिव्यांग महिला शूटर का खिताब भी अपने नाम किया. सोनिया शर्मा भारत के लिए दो साल से खेल रही हैं. विश्व रैकिंग में उनका 14 वां स्थान है. सर्कल न्यूज़ ने दिव्यांग महिला शूटर सोनिया शर्मा से ख़ास बातचीत की.

X

सर्कल आगरा
अपने शहर का अपना ऐप

फतेहाबाद, किरावली, खेरागढ़, एत्मादपुर... की हर खबर, वीडियो और भी बहुत कुछ! 👉

आगरा में 69000 से भी ज्यादा लोग हैं इस ऐप पर, आप भी इस सर्कल का हिस्सा बनें 👉

सर्कल ऐप
इंस्टॉल करें