मोबाइल वैन जिले में करेगी टीबी रोगियों की पहचान

This browser does not support the video element.

स्वास्थ्य विभाग की मोबाइल वैन अब जिले से हर गांव-गांव में घूम कर टीबी के मरीजों को खोजेगी. भारत को टीबी जैसी गंभीर बीमारी से मुक्त करने के लिहाज से स्वास्थ्य विभाग ने 5 मोबाइल वैन को शनिवार हरी झंडी दिखाकर जिला क्षय रोग अधिकारी डॉ. संजीव यादव ने गांवो के लिए रवाना किया. स्वास्थ्य विभाग की इस सराहनीय पहल के बारे में बताते हुए डॉ. संजीव यादव ने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी का लक्ष्य है कि 2025 तक भारत को टीबी जैसी गंभीर बीमारी के मुक्त बनाया जाए. इसी के तहत गांव-गांव जाकर ये मोबाइल वैन संदिग्ध टीबी मरीजों की जांच करेंगी. इस वैन में टीबी मरीजों की जांच के लिए सीबीनॉट मशीन लगी है. मथुरा में 5 दिन 13, 15, 17 व 20 अक्टूबर को सुरीर के ओहावा, मांट के आयरखेड़ा, छाता के दौताना, कोसीकला एवं हयातपुर (किशनपुर) में मरीजों की जांच की जाएगी. जांच में जिन मरीजों में टीबी की बीमारी मिलेगी, उनका तत्काल उपचार शुरू कर दिया जाएगा.

X

सर्कल मथुरा
अपने शहर का अपना ऐप

मथुरा, वृंदावन, छाता, महावन, मांट... की हर खबर, वीडियो और भी बहुत कुछ! 👉

मथुरा में 63000 से भी ज्यादा लोग हैं इस ऐप पर, आप भी इस सर्कल का हिस्सा बनें 👉

सर्कल ऐप
इंस्टॉल करें