हनुमान जी बने थाने में केस प्रॉपर्टी, राष्ट्रीय बजरंग दल ने दी जमानत की अर्जी

This browser does not support the video element.

ताजनगरी आगरा में हनुमान जी की प्रतिमा पुलिस के लिए मुसीबत का सबब बनती जा रही है. जानकारी के अनुसार साल 2014 में न्यू आगरा थाना क्षेत्र में मन्दिर को लेकर विवाद हुआ था और बलवा आदि धाराओं में मुकदमा दर्ज हुआ था. तब से हनुमान की प्रतिमा यहां न्यू आगरा थाने के मालखाने में केस प्रॉपर्टी के रूप में जमा हैं. शनिवार थाना परिसर के मालखाने में हनुमान जी की प्रतिमा कैद होने का मामला सोशल मीडिया पर वायरल होते ही यहां होमगार्डों ने भगवान की प्रतिमा की सफाई करके उन्हें परिसर के मंदिर में स्थापित कर दिया. मामले की जानकारी मिलते ही तुरंत राष्ट्रीय बजरंग दल के महानगर अध्यक्ष गोविंद पाराशर वहां पहुंच गए और हनुमान की प्रतिमा पर 153A व 147 जैसी धाराएं लिखी देख विरोध पर आ गए. उनका आरोप था कि आनन फानन में कैद में रखे हनुमान को बाहर निकाला गया है और उन्हें गलत दिशा में स्थापित किया गया है. उन्होंने थाने में जाकर हनुमान की जमानत के लिए अर्जी भी दी. पुलिस ने जांच के आदेश दे दिए हैं वहीं होमगार्ड इस मामले में हनुमान जी की प्रतिमा को यहीं स्थापित रखने की बात कह रहे हैं.

X

सर्कल आगरा
अपने शहर का अपना ऐप

फतेहाबाद, किरावली, खेरागढ़, एत्मादपुर... की हर खबर, वीडियो और भी बहुत कुछ! 👉

आगरा में 69000 से भी ज्यादा लोग हैं इस ऐप पर, आप भी इस सर्कल का हिस्सा बनें 👉

सर्कल ऐप
इंस्टॉल करें