श्री राम जन्म के पहले से स्थापित है यह मंदिर, पूरी होती है हर मुराद

This browser does not support the video element.

देवी आट्र्स वृंदावन तीर्थ नगरी में प्रचीन श्री मनसा देवी जी का मंदिर है. माना जाता है कि इस प्राचीन मंदिर की त्रेतायुग से प्रथा चली आ रही है. राजा जनक के जमाने से यह मंदिर चला रहा है. पहले इस गांव का नाम अकता-वाकत था. माई की महिमा से गांव का नाम देवी आट्र्स पड़ा. बताया जाता है कि वृंदावन के कन्हैया और योगा माया इस स्थान पर आटे-बाटे खेलते थे. तब इसका नाम आट्र्स पड़ा. मां की महिमा से देवी शब्द जोड़ा गया. तब से इस गांव को देवी आर्टस के नाम से जानते हैं. मंदिर के माननीय पुजारी जी ने बताया कि यह मंदिर बहुत ही पुराना और जाना माना मंदिर है. यहां बहुत दूर-दूर से लोग अपनी मुरादों को लेकर आते और सभी भक्तों की मुरादें पूरी होती है. श्री रामचंद्र के जन्म से पहले का यह मंदिर स्थापित है. यहां पर माताओं के साथ साथ कुछ कुवारी कन्याएं भी दर्शन करने आती है. उन्होंने बताया कि वहां नवरात्रों के साथ-साथ तथा अन्य दिन भी माता के दरबार में प्रणाम करने के लिए मंदिर प्रांगण में उपस्थित होती है. बहुत दूर-दूर से भक्त आते है. शाम के समय सभी माता के भजनों के द्वारा माता का ध्यान करते हैं. भजनों में वहां एकदम लीन हो जाते है.

X

सर्कल मथुरा
अपने शहर का अपना ऐप

मथुरा, वृंदावन, छाता, महावन, मांट... की हर खबर, वीडियो और भी बहुत कुछ! 👉

मथुरा में 63000 से भी ज्यादा लोग हैं इस ऐप पर, आप भी इस सर्कल का हिस्सा बनें 👉

सर्कल ऐप
इंस्टॉल करें