नौहझील में रामलीला के ग्यारहवें दिन किया गया विभिन्न लीलाओं का मंचन

This browser does not support the video element.

नौहझील में चल रही रामलीला के ग्यारहवें दिन विभिन्न लीलाओं का मंचन किया गया. बाली वध के बाद सुग्रीव की सेना, हनुमान जी और अंगद अलग-अलग स्थानों पर जाकर सीता जी की खोज करते हैं. हनुमान जी लंका पहुंच जाते हैं और अशोक वाटिका में सीता जी को देख भगवान श्री राम द्वारा दी गई. मुद्रिका सीता जी को देकर अपना परिचय देते हैं और भूख लगने पर अशोक वाटिका के फल खाते है. राक्षस सैनिकों के विरोध करने पर हनुमान जी अशोक वाटिका को तहस-नहस कर देते हैं, जहां मेघनाद उन्हें ब्रह्म फ़ांस से बन्दी बना लेता है और रावण के दरबार ले जाता है. वहीं रावण द्वारा हनुमान जी की पूंछ में आग लगाने का आदेश दिया जाता है. हनुमान जी की पूंछ में आग लगाई जाती है, जिससे हनुमान जी पूरी लंका को जलाकर खाक कर देते हैं और वापस प्रभु राम के पास आ जाते है. उन्हें सीता जी की सूचना देते हैं.

X

सर्कल मथुरा
अपने शहर का अपना ऐप

मथुरा, वृंदावन, छाता, महावन, मांट... की हर खबर, वीडियो और भी बहुत कुछ! 👉

मथुरा में 63000 से भी ज्यादा लोग हैं इस ऐप पर, आप भी इस सर्कल का हिस्सा बनें 👉

सर्कल ऐप
इंस्टॉल करें