यमुना में जलस्तर बढ़ने से सहमे किसान,देखिए खास रिपोर्ट

This browser does not support the video element.

हथिनी कुंड बैराज से छोड़े गए आठ लाख की ओर एस पानी से जनपद मथुरा पर यमुना जी में इसका असर दिखाई देने लगा है. जमुना जी के तट पर बसे गांव में पानी घुसने लगा हैं. और सैकड़ों एकड़ फसल को यमुना ने अपने आगोश में ले लिया है. जिससे ग्रामीणों में भय व्याप्त है. और लोग सहमे हुए हैं. मथुरा प्रशासन के द्वारा लगातार गांवों में 2 दिन से मनाया दी कराई जा रही है कि सभी ग्रामीण अपने जरूरी सामान वह पशुओं को लेकर सुरक्षित स्थान पर चले जाएं क्योंकि अभी पानी मथुरा पहुंचने वाला है. कि कहीं एक साथ ज्यादा पानी आने से लोगों की मुश्किल ना बढ़ जाए. ग्रामीणों का कहना है कि यमुना किनारे धान की करीबन 200 से 300 एकड़ फसल को यमुना ने अपने आहोश में ले लिया है. चारों तरफ सिर्फ पानी ही पानी दिखाई दे रहा है. जिससे लोगों सहमे हुए हैं. क्योंकि अभी और पानी बढ़ने वाला है. ग्रामीणों ने आगे बताते हुए कहा कि यमुना गांव की तरफ ही कटान कर रही है. कभी भी यमुना गांव तक पहुंच सकती है जिससे लोग डरे हुए हैं. प्रशासन के द्वारा बाढ़ पीड़ित चौकियां भी बनाई गई है. लेकिन उन पर अभी तक लोगों के लिए ऐसी कोई व्यवस्था नहीं की गई है. जिससे लोग वहां रह सके. अगर एक साथ पानी आ जाता है तो ग्रामीण कहां पर जाएंगे.

  • Related Post
X

सर्कल मथुरा
अपने शहर का अपना ऐप

मथुरा, वृंदावन, छाता, महावन, मांट... की हर खबर, वीडियो और भी बहुत कुछ! 👉

मथुरा में 63000 से भी ज्यादा लोग हैं इस ऐप पर, आप भी इस सर्कल का हिस्सा बनें 👉

सर्कल ऐप
इंस्टॉल करें