कड़ी मशक्कत के बाद लूट के अस्पताल का हुआ लाइसेंस रद्द

दरअसल मैकूलाल हॉस्पिटल पर एक मरीज की मौत हो जाने के बाद भी इलाज किये जाने और फ़र्ज़ी डिग्री होने का आरोप था। जिसके चलते देर शाम सुनगढ़ी पुलिस के साथ सीएमओ सीमा अग्रवाल मैकूलाल हॉस्पिटल पहुँची, और अस्पताल के बाकी हिस्सों को सील कर दिया। आपको बता दे कि पिछली 3 अगस्त को हॉस्पिटल के आईसीयू बार्ड को सील कर दिया गया था और मरीजो को दूसरी जगह शिफ्ट करने के लिए तीन दिनों का समय दिया गया था। दरअसल शहर के शुगर फैक्ट्री रोड स्थित पंडित मैकूलाल हॉस्पिटल में सात जून सड़क हादसे में गंभीर रूप से घायल हुए पूरनपुर क्षेत्र के सिकराना गांव निवासी राजू के परिजनों ने भर्ती कराया था। बही राजू की पत्नी का आरोप था कि उसके पति राजू की मौत हो जाने के बाद भी इलाज के नाम एक लाख रुपये बसूले गए थे। बही राजू की पोस्टमार्टम रिपोर्ट के आधार पर उसकी मौत 12 से 24 घंटे पहले ही हो चुकी थी। मृतक राजू की पत्नी शारदा की शिकायत के बाद जिला प्रशासन ने सीएमओ से मामले की जांच कराई। मामले की जांच के दौरान अस्पताल संचालक डॉ योगेंद्र नाथ मिश्रा की एमस, एमसीएच की डिग्री भी फ़र्ज़ी निकली। तब मामले को गंभीरता से लेते हुए जिलाधिकारी बैभव श्रीवास्तव ने शासन को रिपोर्ट भेज दी। बीती 3 अगस्त को जिलाधिकारी के निर्देश पर सीएमओ सीमा अग्रवाल ने अस्पताल के डॉ के चेम्बर सहित आईसीयू बार्ड को सील कर दिया था। साथ ही भर्ती मरीजों को दूसरी जगह शिफ्ट करने के लिए तीन दिन का समय दिया गया था। इसके अलावा 3 अगस्त को ही अस्पताल संचालक डॉ योगेंद्र नाथ मिश्रा के खिलाफ थाना सुनगढ़ी में अपर मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ विजय बहादुर राम ने गंभीर धाराओं के तहत मुकदमा दर्ज करा दिया था। इसके बाद मरीजो को दूसरी जगह शिफ्ट कर दिया गया पर कार्यवाही अधभर में छोड़ दिया गया था, पर आज सीएमओ सीमा अग्रवाल ने मामले को गंभीरता से लेते हुए अस्पताल को पूरी तरह से सील कर दिया है। बही सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार इस मामले में डॉ के खिलाफ गंभीर धाराओं में मुकदमा दर्ज होने के बाद से आरोपित डॉ फरार चल रहे है। पुलिस इस मामले में लगातार दबिश दे रही है। बही जब इस मामले में कार्यवाही करने सुनगढ़ी पुलिस के साथ सीएमओ सीमा अग्रवाल जब अस्पताल में पहुँची तब आनन-फानन में एक घंटे के भीतर ही अस्पताल को पूरी तरह से सील कर दिया गया। इस दौरान मीडिया को अस्पताल परिसर में एंट्री नही दी गयी। बही इस मामले में जब सीएमओ सीमा अग्रवाल ने मीडिया को कैमरे पर कुछ भी नही बताया और अपनी कार में सवार हो कर चली गयी।

X

सर्कल पीलीभीत
अपने शहर का अपना ऐप

अमरिया, कलीनगर, पीलीभीत, पूरनपुर, बीसलपुर… की हर खबर, वीडियो और भी बहुत कुछ! 👉

पीलीभीत में 8000 से भी ज्यादा लोग हैं इस ऐप पर, आप भी इस सर्कल का हिस्सा बनें 👉

सर्कल ऐप
इंस्टॉल करें