चीन रूस अमेरिका के बाद दुनिया में सिर्फ भारत के पास है एंटी सैटेलाइट मिसाइल

This browser does not support the video element.

शनिवार शाम को मुख्यालय स्थित महेंद्र टेक्निकल इंटर कॉलेज मैदान में अपने निर्धारित समय से लगभग डेढ़ घंटे लेट आये केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह का अपने गृह जनपद में , यहां के निवासियों ने उल्लास पूर्वक स्वागत किया। लोगों को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के दृढ़ इच्छाशक्ति से हमारा देश हर मोर्चे पर विकसित देशों बराबरी में निरंतर आगे बढ़ रहा है । विशेषकर विज्ञान और तकनीकी क्षेत्र में हमारे देश के वैज्ञानिकों ने एंटी सैटेलाइट मिसाइल बनाकर , भारत को दुनिया में चीन, अमेरिका और रूस के बाद चौथे देश के रूप में पहचान दिलाई है ।उन्होंने बताया कि यह एक ऐसी मिसाइल है, जिससे कोई भी देश अगर मेरे देश के सेटेलाइट पर मिसाइल से हमला करता है तो एंटी सैटेलाइट मिसाइल उसे आसमान में 3 मिनट के अंदर खंड खंड कर ध्वस्त कर देगी। उन्होंने कहा कि पूर्ववर्ती कांग्रेस सरकार के प्रधानमंत्री डॉ मनमोहन सिंह ढुलमुल रवैये की वजह से 2007 में एंटी सैटेलाइट मिसाइल के परीक्षण की अनुमति सरकार द्वारा नहीं दी गई थी।

X

सर्कल चंदौली
अपने शहर का अपना ऐप

चंदौली, चकिया, नौगढ़, सकलडीहा, सदर… की हर खबर, वीडियो और भी बहुत कुछ! 👉

चंदौली में 3000 से भी ज्यादा लोग हैं इस ऐप पर, आप भी इस सर्कल का हिस्सा बनें 👉

सर्कल ऐप
इंस्टॉल करें