नमो-नमो वाले जा रहे और अब जय भीम वाले आ रहे: मायावती बसपा सुप्रीमो

हिंदुस्तान के सभी बड़ी राजनीतिक पार्टियों ने लोकसभा 2019 में हो रहे सातवें चरण के लिये अपना पूरा जोर लगा दिया है। सलेमपुर में गठबंधन की जनसभा हुई जिसे बसपा सुप्रीमो मायावती, सपा सुप्रीमो अखिलेश यादव और आरएलडी के चौधरी अजीत सिंह ने संबोधित किया। मायावती ने जहां नरेन्द्र मोदी और बीजेपी कम्पनी पर एक के बाद एक हमले किये वहीं कांग्रेस को भी नहीं छोड़ा। कहा कि छह चरणों में गठबंधन की लहर को देखकर बीजेपी घबरा गयी है। यूपी में सभी चरणों की वोटिंग से जो रिपोर्ट मिली है वह बहुत अच्छी और उत्साहित करने वाली है। गठबंधन के पक्ष में एकतरफा वोट पड़ता दिखा है। 23 मई के बाद नमो-नमो वाले जा रहे हैं और अब जय भीम वाले आ रहे हैं। उन्होंने गठबंधन में दरार डालने की कोशिशों का आरोप लगाते हुए नरेन्द्र मोदी को भी निशाने पर रखा।   चुनाव के दौरान सपा सुप्रीमो ने कहा इन लोगों ने गठबंधन को कमजोर करने और तोड़ने व भ्रम पैदा करने की कोशिश की है, लेकिन कामयाब नहीं हो सके। इससे ये काफी दुखी हैं। ये गठबंधन के बारे में अनाप-शनाप बातें कह रहे हैं क्योंकि ये खुद फेल हो चुके हैं। उन्होंने बीजेपी को आगाह करते हुए कहा कि बीजेपी और उनकी कंपनी कितनी भी प्रयास कर ले लेकिन गठबंधन कमजोर पड़ने वाला नहीं। ये तो लम्बा चलेगा, क्योंकि ये महामिलावटी नहीं बल्कि सामाजिक परिवर्तन का महागठबंधन है। गठबंधन पहले भाजपा को केन्द्र और फिर यूपी की सत्ता से बाहर का रास्ता दिखायेगा ।   सलेमपुर के प्रत्याशी आर.एस. कुशवाहा की तारीफ के पल बांधे कहा कि ये अतिपिछड़े वर्ग से आते हैं और बसपा के सच्चे सिपाही हैं। इन्हें सोनिया गांधी के खिलाफ चुनाव लड़ने को कहा गया तो झट से तैयार हो गए। इन्होंने कभी खुद अपनी इच्छा नहीं जाहिर की, बल्कि पार्टी के आदेश का पालन करते रहे। ये बसपा के प्रदेश अध्यक्ष हैं और इन्हें इस बार हम लोकसभा भेज रहे हैं। कहा कि पूर्वांचल और खासतौर से सलेमपुर में कुशवाहा वोट बहुत है। यहां से जो भी चुनकर गए उन्होंने क्षेत्र का ख्याल और ध्यान नहीं रखा ।

X

सर्कल बलिया
अपने शहर का अपना ऐप

बेल्थरा रोड, बॉसडीह, बैरिया, सिकंदरपुर... की हर खबर, वीडियो और भी बहुत कुछ! 👉

बलिया में 9000 से भी ज्यादा लोग हैं इस ऐप पर, आप भी इस सर्कल का हिस्सा बनें 👉

सर्कल ऐप
इंस्टॉल करें