जिले में तेंदू पत्ता संग्रहण का कार्य जोरों पर

This browser does not support the video element.

जिले के वंन क्षेत्रो में, तेंदू पत्ता संग्रहण का कार्य पिछले 8 दिनों से किया जा रहा है। जो अक़्सर मई माह से शुरू हो जाता है, व मई माह के आखरी दिनों तक चलता है । वन विभाग से इनका ठेका होने के बाद, स्थानीय लोगों को पत्ता तोड़ने के लिए बुलाया जाता है। जिसमें महिला, पुरुष और बच्चे जंगलों से तेंदूपत्ता तोड़ कर लाते हैं। यह तेंदूपत्ता तोडने के बाद इनकी 50 से 70 पत्तों को गड्डी के रूप में बनाया जाता है । और ऐसी 100 गड्डी के 95 रूपए मजदूरी दी जाती है । बड़ायला गांव के शिवलाल मीणा ने बताया, की पिछले 8 दिनों से पत्ता तोड़ने का काम किया जा रहा है । इसमें पत्ता तोड़ने वालों को मजदूरी के सो ,डेढ़ सौ से लेकर पांच सौ तक मजदूरी हो जाती है। और बच्चे भी ये काम करके, सौ, डेड सो, रुपए रोजाना कमा लेते हैं। गड्डियां बनाने के बाद, गड्डियों को खेतों में डाल दिया जाता है। और उनकी पलटी लगाई जाती है और पता सूख जाने के बाद,बोरों में भरकर गोदामों में पहुंचाया जाता है।

X

सर्कल प्रतापगढ़
अपने शहर का अपना ऐप

छोटी सादड़ी, धरियावद, पीपलखूंट, प्रतापगढ़... की हर खबर, वीडियो और भी बहुत कुछ! 👉

प्रतापगढ़ में 11000 से भी ज्यादा लोग हैं इस ऐप पर, आप भी इस सर्कल का हिस्सा बनें 👉

सर्कल ऐप
इंस्टॉल करें