आंसुओं के सैलाब में डूबी , कुलपहाड़ तहसील

This browser does not support the video element.

कुलपहाड़ तहसील में तैनात अर्दली इलाही बक्स का शव जैसे ही तहसील में फाँसी  के फन्दे पर झूलता देखा । तो परिजन सहित लोगों की आंखों से आंसुओं का सैलाब बहने लगा।परिवार वालों के आंसुओं की धार टूटने का नाम नहीं ले रही थी। परिवार के लोग लगातार रोए जा रहे थे। पिता को देखकर बच्चे बार बार बेहोश हो रहे थे । चारों तरफ चीख पुकार सुनाई दे रही थी । लोग परिजनों को इस असहाय पीडा को सहने का ढांढस बंधा रहे थे । लेकिन बच्चों को रह रह कर पिता की याद सता रही थी । और उनके साथ बिताए हुए पलों का बयान करते हुए बेइंतहा रो रहे थे । परिजनों की हालत देखकर मिलने वालों की आंखों से भी आंसू बहने लगे थे । जिससे वहां का माहौल और ग़मगीन ही गया था ।

X

सर्कल महोबा
अपने शहर का अपना ऐप

महोबा, चरखारी, कुलपहाड़... की हर खबर, वीडियो और भी बहुत कुछ! 👉

महोबा में 5000 से भी ज्यादा लोग हैं इस ऐप पर, आप भी इस सर्कल का हिस्सा बनें 👉

सर्कल ऐप
इंस्टॉल करें