अनशन में अवैध बिजली उपयोग पर, विभाग ने काटा विद्युत लाइन

This browser does not support the video element.

पानी के समाधान पर भी, समस्यात्मक सियासत राजनीतिक सुर्ख़ियों की अजीबो गरीब दास्तां । अनशन में अवैध बिजली उपयोग पर, विभाग ने काटा विद्युत लाइन। पानी की समस्या को लेकर संबंधित समस्या के उत्तरदायित्व कारण अवैध खनन को लेकर बुंदेलखंड किसान यूनियन संगठन के राष्ट्रीय अध्यक्ष व संगठन के लोगों के साथ में अनवरत अनशन प्रारंभ किया, वहीं जिले के दूसरे संगठन के द्वारा पेयजल समस्या के समाधान पर जिला अधिकारी को प्रशंसनीय पत्र दिया गया है। तो सवाल यह खड़ा करता है, कि बुंदेलखंड किसान यूनियन द्वारा अब किस समस्या को लेकर आंदोलनरत हैं। जो कि, जिस समस्या के प्रति अनशन पर बैठे थे। वह समस्या ही नहीं रही, बुंदेलखंड किसान यूनियन के द्वारा दिनांक 15 मई 2019 से अनशन प्रारंभ किया गया था। और अनशन स्थल पर बा कायदे सुख सुविधाओं के साथ इस भीषण गर्मी में अनशनरत संगठन के कार्यकर्ताओं व राष्ट्रीय अध्यक्ष द्वारा कूलर की हवा लेते और अवैध तरीके से विद्युत का उपयोग करते नजर आए। जहां विद्युत विभाग द्वारा संज्ञान में लेकर गलत तरीके से बिजली का उपयोग करने के कारण लाइट काटी है। उधर नगर पालिका अध्यक्ष का कहना है कि जिस विद्युत पोल से लाइट अवैध तरीके से ली गई है। वह पोल विद्युत विभाग के अधिकार क्षेत्र में आता है, और विद्युत विभाग को इस पर कार्यवाही करना चाहिए गलत, गलत होता है, हम गलत के साथी नहीं है। उधर जारी विज्ञप्ति पर दिनांक 19 मई को बुंदेलखंड किसान यूनियन के राष्ट्रीय अध्यक्ष विमल शर्मा द्वारा विद्युत विभाग पर आरोपित बयान के द्वारा बताया गया था। कि अनशन स्थल की चोरी से लाइट काट दी गई है। लेकिन अपने पत्र में किसान यूनियन के राष्ट्रीय अध्यक्ष ने यह नहीं बताया कि अनशन स्थल पर जो विद्युत का उपयोग किया जा रहा था, किसकी शह पर और किसकी अनुमति लेकर विद्युत का उपयोग किया जा रहा था। जहां संबंधित विभाग ने विद्युत के गलत उपयोग करने पर विद्युत लाइन काटी थी, जो साफ तौर से स्पष्ट होता है कि बिजली का उपयोग अवैधानिक गलत तरीके से किया जा रहा था। अब देखना यह होगा कि अवैध तरीके से विद्युत के प्रयोग में संबंधित विभाग रोक लगाने में कामयाब हो पाता है, या नहीं।

X

सर्कल बाँदा
अपने शहर का अपना ऐप

बाँदा, पैलानी, बबेरु, अतर्रा, नरैनी... की हर खबर, वीडियो और भी बहुत कुछ! 👉

बाँदा में 8000 से भी ज्यादा लोग हैं इस ऐप पर, आप भी इस सर्कल का हिस्सा बनें 👉

सर्कल ऐप
इंस्टॉल करें