रेत के समंदर में मोदी व स्वाभिमान की गूंज

रेत के समंदर में मोदी व स्वाभिमान की गूंज जैसलमेर। लोकसभा चुनावों के मतदान संपन्न होने के साथ ही कयासों व चर्चाओं का दौर जारी है। ऐसे में पश्चिमी राजस्थान की सबसे हाॅट बाडमेर-जैसलमेर सीट को लेकर भी अपने अपने कयास लगाए जा रहे हैं। पश्चिमी राजस्थान की बाडमेर-जैसलमेर सीट पर कांग्रेस के मानवेन्द्रसिंह का मुकाबला भाजपा से कैलाश चैधरी से हैं। सरहदी जिले की लोकसभा सीट पर स्थानीय व क्षेत्रीय मुददे गौण है लेकिन स्वाभिमान व मोदी लहर की गूंज रेत के समंदर में जरूर सुनाई दे रही है। धोरों की धरती में गर्मी के उबाल आने के साथ ही राजनीतिक समीकरण भी गरमा गए हैं। वहीं भाजपा व कांग्रेस में कडा मुकाबले की उम्मीद लगाई जा रही है।  जानकारी के अनुसार बाडमेर-जैसलमेर लोकसभा सीट पर कांग्रेस ने पूर्व रक्षामंत्री जसवंतसिंह के पुत्र मानवेन्द्रसिंह को मौका दिया है। गौरतलब है कि हाल ही में विधानसभा चुनावों से पहले भाजपा का दामन छोड मानवेन्द्रसिंह ने कांग्रेस का दाम थामा था। वहीं कांग्रेस ने करीबन चार दशक बाद बाडमेर-जैसलमेर लोकसभा सीट पर राजपूत प्रत्याशी पर दांव खेला है। जातिगत समीकरण में मानवेन्द्रसिंह मजबूत नजर आ रहे हैं लेकिन मोदी लहर उनकी राह में रोडा बनी हुई है। बाडमेर-जैसलमेर लोकसभा क्षेत्र में मुसलिम व मेघवाल मतदाता विधानसभा चुनावों में कांग्रेस के साथ रहे है, यही कारण रहा कि बाडमेर-जैसलमेर की 8 विधानसभाओं में से 7 पर कांग्रेस ने विजयी पताका फहराया। वहीं भाजपा के खाते में महज एक सीट गई। वहीं लोकसभा क्षेत्र में राजपूत समाज के अच्छे खासे वोट होना भी मानवेन्द्रसिंह के पक्ष में नजर आ रहा हैं। मानवेन्द्रसिंह स्वाभिमान के नाम पर चुनाव लड रहे हैं। वहीं भाजपा के प्रत्याशी कैलाश चैधरी का मजबूत आधार जाट वोट बैंक है। समूचे लोकसभा क्षेत्र में 4 लाख के करीब जाट मतदाता है जो कैलाश चैधरी के साथ नजर आ रहे हैं। वहीं लोकसभा क्षेत्र में ओबीसी सबसे निर्णायक की भूमिका निभा रही हैं। भाजपा व कांग्रेस में से जिसने ओबीसी वोटों को लेने में मेहनत की है परिणाम उसके पक्ष में हो सकता है।

X

सर्कल जैसलमेर
अपने शहर का अपना ऐप

जैसलमेर,पोकरन,फतेहगढ़, भणियाणा... की हर खबर, वीडियो और भी बहुत कुछ! 👉

जैसलमेर में 7000 से भी ज्यादा लोग हैं इस ऐप पर, आप भी इस सर्कल का हिस्सा बनें 👉

सर्कल ऐप
इंस्टॉल करें