जरा सुनिए, बिल पास होने के बाद जिले में दर्ज हुए तीन तलाक के कितने मुकदमे और कितने गए जेल

This browser does not support the video element.

30 जुलाई 2019 का ऐतिहासिक दिन शायद ही कोई देशवासी भूल पाए। दरअसल इसी दिन देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा कई सदियों से बंदिशों की बेड़ियों में जकड़ी मुस्लिम महिलाओं को निजात दिलाने के उद्देश्य से तीन तलाक को लेकर देश में कड़ा कानून लागू किया गया था। बिल के संसद में पास होने के बाद जहां मुस्लिम महिलाओं में खुशी का माहौल है। वहीं, अब तीन तलाक से पीड़ित महिलाओं ने अपने साथ हुए जुल्मों सितम के खिलाफ आवाज बुलंद करनी शुरू कर दी है। इसी कड़ी में जहां देश के तमाम हिस्सों में पत्नी को तीन तलाक देकर कानून तोड़ने वाले शौहरों को सींखचो के पीछे पहुंचाया जा रहा है। वहीं, मेरठ जिले में भी इस बिल के पास होने के बाद से लेकर अब तक तीन तलाक पीड़ितों द्वारा विभिन्न थानों में 18 मुकदमे दर्ज कराए गए हैं। एसएसपी अजय साहनी ने बताया कि बिल पास होने के बाद पुलिस के सामने 18 ऐसे मामले आए। जिनमें पत्नी द्वारा अपने पति पर खुद को तीन तलाक देने का आरोप लगाया गया था। उन्होंने बताया कि सभी मामलों में रिपोर्ट दर्ज कर जांच कराई जा रही है। कुछ मामलों में आरोपी पति से गिरफ्तारी भी की गई है। जबकि अन्य मामलों में जांच जारी है। देखना यह है कि कानून के खौफ से ऐसे मामलों में कितने प्रतिशत कमी आती है।

X

सर्कल मेरठ
अपने शहर का अपना ऐप

मवाना, सदर, सरधना, मेरठ... की हर खबर, वीडियो और भी बहुत कुछ! 👉

मेरठ में 4000 से भी ज्यादा लोग हैं इस ऐप पर, आप भी इस सर्कल का हिस्सा बनें 👉

सर्कल ऐप
इंस्टॉल करें