कर्ज में डूबे किसान को हिरासत में लिया

This browser does not support the video element.

कर्ज ना चुका पाने के चलते 75 वर्षीय बुजुर्ग किसान को अमीन ने हिरासत में ले लिया। पुत्र ने पिता के साथ बीमारी के चलते अनहोनी की आशंका जताई है । दरअसल मामला जनपद शामली के थानाभवन क्षेत्र के मंटी हसनपुर गांव का है। भोपाल ने पंजाब नेशनल बैंक से कई वर्ष पूर्व अपनी 5 बीघा जमीन पर 54 हजार रुपये का कृषि ऋण लिया था। ऋण ना चुका पाने के कारण मंगलवार के दिन अमीन ने घर पहुंचकर बुजुर्ग किसान भोपाल को हिरासत में ले लिया। किसान के पुत्र विक्रम ने जानकारी देकर बताया कि उन्होंने पंजाब नेशनल बैंक से कई वर्ष पूर्व ₹54000हजार का खेती पर ऋण लिया था। जिसको उनके पिताजी बीमारी व खेती में घाटा होने के कारण नहीं चुका पाए। 2 माह पहले ही पिताजी की बीमारी में 2 बीघा जमीन बेचनी पड़ी। मंगलवार के दिन जब वह काम पर गया हुआ था। उसे अमीन का फोन आया उन्होंने कहा कि हमने तुम्हारे पिताजी को पकड़ लिया है, उनको छुड़ा लेना। उन्हें यह भी जानकारी नहीं है कि उन्हें अपने पिताजी को कैसे छुड़ाना है। पीड़ित किसान का पुत्र बैंक के बाहर चक्कर काट रहा है। किसान के पुत्र विक्रम ने आरोप लगाया कि उन्होंने अमीन से ऋण चुकाने के लिए थोड़े दिनों की मोहलत मांगी थी। लेकिन उन्होंने उन्हें कोई मोहलत नहीं दी और उल्टा उनसे ही ₹25000 रिश्वत मांग कर मोहलत देने की बात कही। उनके पिताजी पिछले काफी समय से बीमार चल रहे हैं। अगर उनके साथ कोई अनहोनी हो जाती है तो इसका कौन जिम्मेदार होगा। जहां पूरे देश में किसान के नाम पर राजनीति गर्म है वही देश में अन्नदाता कर्ज में डूबा है। चुनाव से पहले राजनीतिक पार्टियों ने किसान के कर्ज माफी के बड़े-बड़े दावे किए हैं, लेकिन कर्ज में डूबे किसान अपने कर्ज ना चुका पाने के कारण आज जेल जाने को मजबूर हैं। पुत्र ने फिलहाल लिया गया ऋण न चुका पाने में असमर्थता जताई है। पूरा मामला गांव में चर्चा का विषय बना हुआ है। इस पूरे मामले में तहसीलदार प्रीति सिंह ने जानकारी देकर बताया कि किसान भोपाल सिंह ने पंजाब नेशनल बैंक से दो कृषि ऋण लिए थे। जिनकी आरसी 2016 में कट गई थी। जिन पर ₹85हजार84 रुपये व दूसरा ऋण ₹89750 का है। अगर उनके परिजन रसीद कटा लेते हैं तो उनको तहसील से ही मुक्त कर दिया जाएगा। अगर रसीद नहीं कटाते हैं तो नियमानुसार उनको जेल भेज दिया जाएगा।

X

सर्कल शामली
अपने शहर का अपना ऐप

शामली, कैराना, उन... की हर खबर, वीडियो और भी बहुत कुछ! 👉

शामली में 7000 से भी ज्यादा लोग हैं इस ऐप पर, आप भी इस सर्कल का हिस्सा बनें 👉

सर्कल ऐप
इंस्टॉल करें