कोटड़ा में फिर चढ़ोतरा का मामला,6 पुलिस कर्मी घायल

कोटड़ा के बेकरिया थाना क्षेत्र की है घटना। सूत्रों के मुताबिक बेकरिया के सालेरा गाँव मे तीन दिन पूर्व एक विवाहिता की कीटनाशक पीकर आत्महत्या करने को लेकर दोनो पक्षो में विवाद चल रहा था। मृतका के पीहर पक्ष सिरोही (बसंतगढ़ ) ने मामले को संदिग्ध मानते हुए ससुराल पक्ष पर हत्या का आरोप लगाया था। पीहर पक्ष का कहना है कि मृतका की मौत के बाद हमे सूचना नही दी गयी। और तुरंत ही मृतका का अंतिम संस्कार करने वाले थे। तब पीहर पक्ष को किसी ने मृतका की मौत की सूचना दी। तब पीहर पक्ष मौके पर जा पहुँचे औऱ शव को बेकरिया सीएचसी रखवाकर पोस्टमार्टम करवाने की जिद करने लगे। अगले दिन सुबह फिर पीहर पक्ष अपने समाज के लोगो के साथ बेकरिया पुलिस थाना परिसर पहुँच गये। और मौताणा की मांग करने लग गए। ऐसे में अब सवाल यह उठता है कि - महिला की मौत को लेकर पीहर पक्ष दो दिनों से बेकरिया थाने के पास ही एकत्रित होकर आपसी सामाजिक स्तर पर पंच पटेलो के माध्यम से बातचीत कर रहे थे। जिसमे बेकरिया पुलिस ने भी अपने स्तर पर मामले को सुलझाने को लेकर हर सम्भव प्रयास करते नजर आए, लेकिन फिर पीहर पक्ष ने ससुराल पक्ष से मौताणा राशि की मांग रख दी । बेकरिया पुलिस थानाधिकारी अमरा राम मीणा ने मौताणा राशि नही देने व  आपसी सहमति से स्थानीय स्तर पर ही मामले को हल करने की कोशिश की लेकिन पीहर पक्ष ने मौताणा की ज्यादा   राशि की मांग रखी । इस मौताणा राशि को तय करने को लेकर पंचो में बातचीत चल रही थी ,लेकिन अचानक पीहर पक्ष राशि से नाराज होकर उठ कर जाने लगे और फिर हथियारों से लेंस लोगो की भीड़  चढ़ोतरा करने के लिए सालेरा गाँव की तरफ बढ़ने लगी। मामला बढ़ते देख बेकरिया पुलिस ने हथियार बंद लोगो को हाइवे पर ही वापस रोकने का प्रयास किया । लेकिन इस बार गुस्साये हथियार बंद लोगो की भीड़ ने लाठी,तीर,पत्थरों से पुलिसकर्मियों पर हमला कर दिया। जिसमें कई पुलिस के जवान घायल हो गये। और पुलिस के वाहनों को भी नुकसान पहुँचाया। हमले में छ: पुलिस के जवान घायल हुए है । उन  छ:पुलिस कर्मियों को एम्बुलेंस से तुरंत ही उदयपुर रेफेर कर दिया गया।  पुलिस पर उठे बड़े सवाल विवाहित की मौत के बाद आखिर दो दिनों से पुलिस दोनो पक्षो से क्या बातचीत कर रही थी। हथियार से लैस लोगो की भीड़ को थाने के आसपास क्यो बैठने दिया गया। जबकि पुलिस उन्हें थाना क्षेत्र से दूर ही रोक सकती थी। बेकरिया पुलिस ने उदयपुर से अतिरिक्त जाब्ता क्यो नही बुलाया ना ही कोटड़ा के सीओ सर्कल के थानों से जाब्ता बुलाया गया। उग्र भीड़ के हमले के बाद बेकरिया पुलिस ने मौके से टूटी पुलिस जीप  को ही गायब कर दिया गया।   

X

सर्कल उदयपुर
अपने शहर का अपना ऐप

ऋषभदेव, खेरवाड़ा, गोगुन्दा, झाड़ोल, मावली... की हर खबर, वीडियो और भी बहुत कुछ! 👉

उदयपुर में 16000 से भी ज्यादा लोग हैं इस ऐप पर, आप भी इस सर्कल का हिस्सा बनें 👉

सर्कल ऐप
इंस्टॉल करें