पुत्री के द्वारा पिता को मुखाग्नि देती ही हर आंख हो गई नम

कस्बा के मौहल्ला दखल के एक व्यक्ति की कैंसर से अलवर में उपचार के दौरान मौत हो जाने के बाद उनके शव को पुत्री के द्वारा मुखाग्नि देते ही कस्बा के लोगों की आंखों से अश्रुधारा बह निकली।मौहल्ला दखल निवासी सुनील कुमार वार्ष्णेय पुत्र सौनटैट वार्ष्णेय काफ़ी समय से कैंसर से जूझ रहे थे। सुनील कुमार वार्ष्णेय का उपचार अलवर के एक हास्पीटल में चल रहा था। सोमवार को उपचार के दौरान सुनील कुमार वार्ष्णेय की मौत हो गई। सुनील कुमार वार्ष्णेय के शव को दाह संस्कार के लिए गंगाघाट कछला ले जाया गया। सुनील कुमार के शव को पुत्र नही होने के कारण बडी पुत्री चुनमुन वार्ष्णेय के द्वारा पिता के शव को मुखाग्नि दी गई। पुत्री चुनमुन के द्वारा पिता को मुखाग्नि देती ही कस्बा के लोगों की गंगाघाट पर आंखों से अश्रुधारा बह निकली।

X

सर्कल हाथरस
अपने शहर का अपना ऐप

हाथरस, सादाबाद, सासनी, सिकंदरा राव… की हर खबर, वीडियो और भी बहुत कुछ! 👉

हाथरस में 17000 से भी ज्यादा लोग हैं इस ऐप पर, आप भी इस सर्कल का हिस्सा बनें 👉

सर्कल ऐप
इंस्टॉल करें