रमजान में पर्दों से ढक दिए जाते हैं खाने के होटल

मुकद्दस रमजान महीने में खाने-पीने के होटल व चाय की दुकानें पर्दों से ढक दी जाती है। दुकानदार यह इंतजाम उन लोगों के लिए करते हैं जो मजबूरी में रोजे नहीं रख पाते हैं। बीमारी वह किसी मजबूरी के चलते रोजा ना रखने वाले लोग रोजेदारों का एहतराम करते हुए पर्दे के पीछे रहकर अपनी भूख प्यास मिटाते हैं। मुस्लिम इलाकों में खाने के होटल और चाय की दुकानें जो आम दिनों में खुली रहती हैं, लेकिन रमजान में इन होटलों व दुकानों पर पर्दे डाल दिए जाते हैं। सभी दुकानदार यह इंतजाम उन लोगों के लिए करते हैं जो लोग बीमारी और किसी मजबूरी के कारण रोजा छोड़ देते हैं।

X

सर्कल मुरादाबाद
अपने शहर का अपना ऐप

मुरादाबाद, कांठ, ठाकुरद्वारा, बिलारी... की हर खबर, वीडियो और भी बहुत कुछ! 👉

मुरादाबाद में 11000 से भी ज्यादा लोग हैं इस ऐप पर, आप भी इस सर्कल का हिस्सा बनें 👉

सर्कल ऐप
इंस्टॉल करें