फिर दलित समाज का विरोध प्रदर्शन, मांगे माने सरकार नही तो तैयार रहे उग्र आंदोलन के लिए

This browser does not support the video element.

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ द्वारा उत्तर प्रदेश को अपराध मुक्त, भयमुक्त, बनाकर उत्तम प्रदेश बनाने की बात कही थी। लेकिन लगातार बढ़ रही लूट, डकैती, अपराध, बलात्कार, जैसी घटनाओं ने उत्तर प्रदेश की कानून व्यवस्था पर सवालिया निशान खड़ा कर दिया है। कुछ दिन पूर्व में हुई थाना मझोला क्षेत्र में एक दलित बच्ची के साथ हैवानियत के बाद पुलिस द्वारा की गई लापरवाही के विरोध में सैकड़ों दलित समाज के लोगों ने आज उत्तर प्रदेश मुरादाबाद के जिलाधिकारी कार्यालय पर जबरदस्त विरोध प्रदर्शन किया, और मासूम बच्ची के साथ बलात्कार के आरोपियों को जल्द से जल्द फांसी देने की मांग उठाई। दरअसल हाल ही में मुरादाबाद के थाना मझोला क्षेत्र के मनोहरपुर गांव में आठ साल की मासूम दलित बच्ची के साथ दो व्यक्तियों द्वारा दंदगी करते हुए उसके गुप्तांग पर चोट मारी थी,इस पूरे मामले में आरोपी पड़ोसी जनपद अमरोहा के रहने वाले थे, और मनोहरपुर में एक बारात में शामिल होने आए थे, जिन्होंने मौका पाकर छोटी सी मासूम बच्ची के साथ दुष्कर्म किया था। इस घटना के तुरंत बाद ग्रामीणों ने दोनों आरोपियों को मौके से पकड़कर पिटाई करते हुए पुलिस की सुपुर्दगी में दे दिया था। लेकिन पीड़ित परिजनों का आरोप है, कि थाना मझोला पुलिस आरोपियों के खिलाफ सख्त कार्रवाही न करते हुए हल्की धाराओं में उनका चालान कर दिया था, उसके बाद आज अपनी मांग को उठाते हुए सैकड़ों दलितों ने जिला अधिकारी कार्यालय पहुंचे और अपना पक्ष रखा, और जल्द से जल्द आरोपियों की गिरफ्तारी कर फांसी की मांग की। साथ ही उन्होंने यह भी सरकार को चेतावनी दी है, कि यदि उनकी मांगे पूरी नहीं होती है तो आने वाले समय में पूरा दलित समाज मुरादाबाद से लेकर पूरे उत्तर प्रदेश में उग्र आंदोलन करने पर मजबूर हो जाएगा।

X

सर्कल मुरादाबाद
अपने शहर का अपना ऐप

मुरादाबाद, कांठ, ठाकुरद्वारा, बिलारी... की हर खबर, वीडियो और भी बहुत कुछ! 👉

मुरादाबाद में 11000 से भी ज्यादा लोग हैं इस ऐप पर, आप भी इस सर्कल का हिस्सा बनें 👉

सर्कल ऐप
इंस्टॉल करें