नहर में मिले शव की 10 दिन बाद हुई शिनाख्त

तहसील क्षेत्र के कोतवाली तालगाँव इलाके से गुजरी शारदा शहायक नहर में बीती 14 अगस्त के दिन काजी सराय गांव के निकट 35 वर्षीय अज्ञात पुरुष का शव नहर में बहता देख ग्रामीणों की सूचना परपुलिस ने शव को बाहर निकलवाया था, जिसके हाथ पैर रस्सी से बंधे हुए थे और गले के ऊपर गहरी चोट के निशान होने से जिससे जाहिर होता है कि व्यक्ति की हत्या कर शव नहर में फेंकने का शक था। आज कोतवाली पहुँची रीना देवी ने फ़ोटो व कपड़े से मृतक की पहचान अपने पति ब्रजेश कुमार उर्फ़ अच्छे लाल पुत्र गुरु प्रसाद निवासी मालीपुर थाना नीमगाँव जनपद खीरी के रूप में की। रीना ने बताया ब्रजेश व उसके पिता गुरुप्रसाद बीती 12 अगस्त को मोटसाईकिल से गोला जाने की बात कहकर निकले थे, घर वापस न आने पर परिवारीजनो द्वारा नीमगाँव थाने में तहरीर दी थी, जिसपर पुलिस द्वारा गुमशुदगी दर्ज की गयी थी। परिजनो द्वारा काफ़ी खोजबीन के बाद फ़रधान थाने के आसपास मोटरसाईकिल मिली थी वहीं पर लोगों ने बताया की सोशल मीडिया पर बीते दिनो से अज्ञात शव कोतवाली तालगाँव जनपद सीतापुर में मिलने की पोस्ट डाली गयी है, जिसके बाद पत्नी रीना , भाई लल्लन , ताऊ गयाप्रसाद , ससुर मनोहर ने कोतवाली तालगाँव पहुँचकर फ़ोटो व कपड़ों से शव की पहचान की। कोतवाली पहुचे परिवारीजनो ने बताया ब्रजेश के पिता गुरुप्रसाद का अभी तक कहीं पता नहीं चल सका है। घटना के संबंध में क्षेत्राधिकारी अखंड प्रताप सिंह ने बताया की नहर में मिले शव का पोस्टमार्टम कराने के बाद अज्ञात व्यक्तियों के विरुद्ध कोतवाली ताल गांव में हत्या का मुकदमा पुलिस द्वारा दर्ज कराया गया है।

X

सर्कल सीतापुर
अपने शहर का अपना ऐप

बिसवां, महोली, मिश्रिख, लहरपुर, सिधौली… की हर खबर, वीडियो और भी बहुत कुछ! 👉

सीतापुर में 12000 से भी ज्यादा लोग हैं इस ऐप पर, आप भी इस सर्कल का हिस्सा बनें 👉

सर्कल ऐप
इंस्टॉल करें