कर्ज के अवसाद से किसान के आत्महत्या के मामले में आया नया मोड़, जानिए क्या है पूरा मामला

कसया थाना क्षेत्र के ग्राम सभा धुरिया में बीते बुधवार की सुबह फंदे से लटकता शव किसान  गोबिन्द सिंह का शव मिला था। जिसको लेकर मृतक के बेटे मनीष ने ज्यादे कर्ज के चलते अवसाद में आने को लेकर आत्महत्या को लेकर पुलिस को सूचित किया था। शव मिलने के 24 घण्टे के बाद इस आत्महत्या में एक नया पेच तब उजागर हुआ। जब गुरुवार की सुबह ज्वाइंट मजिस्ट्रेट कसया अभिषेक कुमार पाण्डेय व सीओ रामदास प्रसाद जाँच करने मृतक के घर पहुँचे। जहाँ मृतक की पत्नी किरन ने एक सुसाइड नोट अधिकारियों को सौंपा। इसको संज्ञान में लेते हुए अधिकारी गहनता से जाँच पड़ताल शुरू कर दिए। सुसाइड नोट के अनुसार मृतक ने कर्ज से डुवे होने की बात का जिक्र करते हुए अपने चाचा बाके सिंह व भाई रविन्द्र सिंह व भगवान सिंह है।  अधिकारियों की जाँच में यह खुलासा हुआ कि मृतक के चाचा बाके सिंह की शादी नही हुई थी। चाचा ने अपनी कुछ जमीन मृतक के पत्नी किरन के नाम कर दिए थे और शेष बची जमीन की वसीयत मृतक के पत्नी के नाम हुआ था। हालांकि इसके पूर्व बाके सिंह द्वारा एक और वसीयत बनाई गई थी जिसमे तीनो भतीजो को बराबर का हकदार बनाया था। इसको लेकर जमीन लिखने व नया वसीयत बनाने को लेकर परिवार में कलह पैदा हो गया। जिसको लेकर बार बार यह मामला पुलिस तक पहुँचता था। बाद में गाँव के लोगो ने पंचायत द्वारा मामले को सुलझाया। जिसमे मृतक की पत्नी किरन के नाम हुई खेत की रजिस्ट्री वापस हुई और पुनः एक नया वसीयत बनाया गया। जिसमे तीनो भतीजो को बराबर का हिस्सेदार बनाया गया। बाके सिंह के द्वारा किरन के नाम जमीन लिखवाने में सुसाइड नोट के अनुसार 1 लाख 21 हजार रुपये लिए थे जो मृतक ने कर्ज लिए थे। अधिकारियों के जाँच में यह भी पता चला कि कुछ अबैध रूप से संचालित समूहों से भी मृतक पैसा लिया था। जिससे घर बनवाने, इलाज कराने आदि में व्यय किया था। जाँच के आधार पर थाने के निरीक्षक जितेन्द्र सिंह के तहरीर पर मुकदमा संख्या 344/19 धारा 306 के तहत मृतक के चाचा बाके सिंह, रविन्द्र सिंह व भगवान सिंह पर मुकदमा दर्ज कर पुलिस ने रबीन्द्र और भगवान को गिरफ्तार कर लिया। घटना की संयुक्त जाँच रिपोर्ट डीएम कुशीनगर को सौप दिया गया है। 

X

सर्कल कुशीनगर
अपने शहर का अपना ऐप

कप्तानगंज, कसया, खड्डा, तमकुहीराज, पडरौना… की हर खबर, वीडियो और भी बहुत कुछ! 👉

कुशीनगर में 10000 से भी ज्यादा लोग हैं इस ऐप पर, आप भी इस सर्कल का हिस्सा बनें 👉

सर्कल ऐप
इंस्टॉल करें