भारत-पाक क्रिकेट और तल्ख़ी के किस्से

भारत-पाकिस्तान का मैच हो और विवाद न हों तो मैच पूरे नहीं होते। दोनों देशों के खेल सम्बन्ध कई बार विवादों में आये। कई दफ़े तो दोनों देशों की तनातनी के कारण खेल सम्बंधों और खिलाड़ियों में तल्ख़ी भी आयी।  जब पाक के खिलाफ भारत ने बीच में छोड़ दिया मैच 1978 में भारतीय टीम तीन मैचों की सीरीज के लिए पाकिस्तान गयी। सभी मैच 40 ओवर के थे। पहला मैच भारत ने चार रन से और दूसरा पाकिस्तान ने 8 विकेट से जीता। तीसरा मैच भारत ने बीच में ही छोड़ दिया। साहिवाल में खेले गए मैच में पाकिस्तान ने पहले बैटिंग करते हुए भारत को 206 रनों का लक्ष्य दिया। । भारत 37.4 ओवर में 183 रन बना चुका था। लेकिन भारतीय कप्तान विशन सिंह बेदी ने पाकिस्तानी टीम पर बेईमानी का आरोप लगाते हुए बल्लेबाजों को वापस बुला लिया। तब मैच रेफरी ने पाकिस्तान को विजेता घोषित कर दिया और भारत 1-2 से सीरीज हार गया। जब युद्ध ने नहीं होने दिए मैच भारत और पाक के बीच खेल सम्बन्ध अच्छे न होने के दो प्रमुख कारण रहे, एक तो युद्ध और दूसरा पाक द्वारा किये गए आतंकी हमले। 60 के दशक में भारतीय टीम को पाकिस्तान जाना था। लेकिन 1965 और 1961 के युद्ध के चलते ये हो न सका। उसके बाद 1975 में दोनों देशों ने इस ओर ध्यान दिया। लेकिन 1977 में इंदिरा की सरकार से छुट्टी हो गयी और दूसरी तरफ भुट्टो की मौत हो गयी। उसके बाद 1978 में भारत ने पाक का दौरा किया।  जब पाक ने बुलाए इंग्लिश अंपायर एक बार फिर जब भारत द्विपक्षीय सिरीज़ के लिए 1980 में पाकिस्तान पहुंचा। तब किसी भी तरह के बेईमानी के आरोपों से बचने के लिए पाक कप्तान इमरान खान ने बोर्ड से इंग्लिश अम्पायर बुलाने की मांग की। उनकी मांग पीसीबी ने मान ली और इंग्लैंड से अम्पायर बुलाये गए।  जब चरम पर थी तल्ख़ी 1999 में कारगिल और कांधार 2001 में संसद पर हमला, ये ऐसी घटनाएं थीं जो नाक़ाबिले बर्दाश्त थीं। इस दौरान भारत और पाकिस्तान की तल्ख़ी अपने चरम पर थी। इसी बीच 2003 में दक्षिण अफ्रीका ने विश्वकप की मेजबानी की। विश्वकप में सेंचुरियन के मैदान में भारत-पाक की भिड़ंत हुई। इस दौरान दोनों टीमों के बीच तल्ख़ी इतनी ज़्यादा थी कि भरतीय खिलाड़ी पाक खिलाड़ियों से हाथ तक नहीं मिलाना चाहते थे। लेकिन जब आईसीसी के अधिकारी बीच में आए तब दोनों टीम के खिलाड़ियों को हाथ मिलाने पर मजबूर होना पड़ा।

X

सर्कल: लोकल न्यूज़ और वीडियो
अपने शहर का अपना ऐप

സർക്കിൾ: പ്രാദേശിക വാർത്തകളും വീഡിയോകളും

Circle: Local News & Videos

Install
App