15 हजार का इनामिया गिरफ्तार,जमीन की हेराफेरी में था संलिप्त

This browser does not support the video element.

स्थानीय कोतवाली पुलिस ने ₹15000 के इनानिया शातिर जालसाज को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है। उसके ऊपर फर्जी दस्तावेजों के सहारे दूसरे की जमीन को बेचकर लाखों रुपया कमाने का आरोप है। जानकारी के मुताबिक स्थानीय नई बस्ती निवासी शाहिद इकबाल उर्फ शिबू पुत्र इक़बाल अहमद के खिलाफ स्थानीय कोतवाली में फर्जीवाड़े से संबंधित 2 मुकदमें दर्ज थे। जिसमें उसके ऊपर आरोप था कि उसने कई वर्षों पूर्व मृत हो चुके व्यक्ति के नाम का फर्जी दस्तावेज,आईडी,आधार कार्ड बनवाकर उसकी जमीन बेच कर लाखों रुपये कमाए हैं। साथ ही जिसने जमीन लिया उसे ना तो जमीन मिली और ना ही रुपया ही वापस मिला। ऐसे में दर्ज मुकदमें की जांच के आदेश एसपी संतोष कुमार सिंह ने एएसपी प्रेमचंद व सीओ सदर त्रिपुरारी पाण्डेय को दिया था। जिसके परिप्रेक्ष्य में की जा रही विवेचना में आरोपों की पुष्टि के बाद पुलिस आरोपी के गिरफ्तारी के लिए लगातार दबिश दे रही थी। लेकिन वह फरार चल रहा था। जिसपर एसपी ने उसके खिलाफ 15000 रुपये का इनाम घोषित कर दिया। जिसके बाद प्रभारी निरीक्षक शिवानन्द मिश्रा, अतिरिक्त निरीक्षक नरेंद्र प्रताप सिंह,एसआई राजकुमार पाण्डेय व एसआई सत्येंद्र विक्रम सिंह तथा हे. का. प्रह्लाद सिंह,आरक्षी प्रवीण तिवारी,शैलेन्द्र उपाध्याय व चंद्रशेखर ने बीती देर रात्रि करीब 10 बजे कोतवाली से महज चंद कदम दूर स्थित सुभाष पार्क के पास से आरोपी युवक शाहिद इक़बाल उर्फ शिबू को हिरासत में ले लिया और कोतवाली ले आये। जहां पूछताछ में उसने बताया कि वह काफी दिनों से इस काम मे संलिप्त है। उसने यह भी बताया कि एक मृत व्यक्ति का फर्जी दस्तावेज,आधार कार्ड,पहचान पत्र आदि बनवाकर दूसरे को खड़ा करके उसकी जमीन को बेच कर उससे 15 लाख रुपये ठग लिया था। इस बाबत एसपी संतोष कुमार सिंह ने बताया कि यह एक शातिर जालसाज है।ईसने एक ही जमीन जिसके मालिक की मृत्यु हो चुकी है उसे कई बार बेच दिया और लोगों से धोखाधड़ी करते आ रहा है।इसके खिलाफ कोतवाली व न्यायालय से भी मुकदमा दर्ज किया गया है।यह फरार चल रहा था ।इसके खिलाफ 15000 रुपये का इनाम भी घोषित है।

X

सर्कल चंदौली
अपने शहर का अपना ऐप

चंदौली, चकिया, नौगढ़, सकलडीहा, सदर… की हर खबर, वीडियो और भी बहुत कुछ! 👉

चंदौली में 3000 से भी ज्यादा लोग हैं इस ऐप पर, आप भी इस सर्कल का हिस्सा बनें 👉

सर्कल ऐप
इंस्टॉल करें