फादर्स डे: पिता बिना अस्तित्व अधूरा।

कहते हैं मां के चरणों में स्वर्ग होता है, मां बिना जीवन अधूरा है लेकिन अगर मां जीवन की सच्चाई है तो पिता जीवन का आधार, मां बिना जीवन अधूरा है तो पिता बिना अस्तित्व अधूरा। जीवन तो मां से मिल जाता है लेकिन जीवन के थपेड़ो से निपटना तो पिताजी से ही आता है, जिंदगी की सच्चाई के धरातल पर जब बच्चा चलना शुरू करता है,तो पहली बार पिता के साये में ही चलता है। हर बच्चे के जीवन में पिता का रोल बेहद अहम होता है। जीवन की कठिनाइयों में हमें गाइड करने से लेकर हमेशा देखभाल करने तक पिता का बच्चों के जीवन पर गहरा प्रभाव होता है। पिता हम सबके लिए जीवनभर जो करते हैं उसके लिए शब्द शायद कम पड़ जाएं। फादर्स डे हर साल जून के तीसरे सप्ताह में मनाया जाता है। इस महीने का तीसरा रविवार पिता को समर्पित किया गया है।

X

सर्कल महोबा
अपने शहर का अपना ऐप

महोबा, चरखारी, कुलपहाड़... की हर खबर, वीडियो और भी बहुत कुछ! 👉

महोबा में 5000 से भी ज्यादा लोग हैं इस ऐप पर, आप भी इस सर्कल का हिस्सा बनें 👉

सर्कल ऐप
इंस्टॉल करें