आचार्य प्रशिक्षण वर्ग का समारोह पूर्वक समापन

This browser does not support the video element.

सीकर विभाग के आदर्श शिक्षण संस्थान द्वारा 9 जून से आयोजित नवीन आचार्य प्रशिक्षण वर्ग का सेठ जयदेव चण्डीप्रसाद जालान आदर्श विद्या मंदिर में समापन रविवार को के संगठन मंत्री, राजस्थान क्षेत्र के शिवप्रसाद ने दीप प्रज्वलित कर किया। समारोह में चुवास आश्रम के महन्त निश्च्चल नाथ महाराज के सानिध्य मे आयोजित समापन समारोह मे का संगठन मंत्री शिवप्रसाद ने सम्बोधित करते हुए कहा कि हम सब लोग कठिन समय में काम कर रहे है। हमारी शिक्षा का स्वरूप अलग प्रकार का रहा है। शिक्षा का उद्देश्य व्यक्ति का चरम लक्ष्य पर पहुँचाना है। ‘‘सा विद्या या विमुक्तये’’ विद्या वहीं जो मुक्ति प्रदान करती है। ’जिनेवा’ के शैक्षिक सम्मेलन में बताया गया कि शिक्षा हमें संस्कृति से जोड़ती है न की रोजगार से। पहले शिक्षा अनुभव और प्रयोगो पर आधारित थी आज पुस्तकीय ज्ञान दिया जाता है वह वास्तव में शिक्षा है ही नहीं। बालक स्वतंत्र व स्वछन्द भाव से प्राकृतिक रूप से शिक्षा ग्रहण करे। यह भाव ‘रविन्द्रनाथ, विवेकानन्द एवं गांधी का है। उन्होने कहा हमारा आचार्य पूरी निष्ठा व लगन के साथ लगा हुआ है लेकिन चुनौतियों का सामना करने के लिए हमें भी विद्यालय स्तर पर हाई फाई होना होगा। हमारा बालक भी अंग्रेजी में अच्छा ज्ञान वाला बनें। इस अवसर पर मत्री, विद्या भारती संस्थान, जयपुर के सुरेश वधवा, स्थानीय विद्यालय के व्यवस्थापक प्रेमप्रकाष छकड़ा, प्रहलादराय सैनी भारतीय शिक्षा प्रसार समिति जिला उपाध्यक्ष, राजकीय सेवानिवृत प्रधानाचार्य रजनीकान्त शर्मा, पवन शर्मा, सुरेश शर्मा, एवं तीनों आदर्श विद्या मंदिरों के समस्त स्टाफ उपस्थित रहे। अतिथियों का परिचय विद्यालय के प्रधानाचार्य नरपत सिंह ने करवाया। संचालन चूरू जिला सचिव ओमप्रकाष मील ने किया।

X

सर्कल सीकर
अपने शहर का अपना ऐप

दांतारामगढ़, लच्छमनगढ़, श्री माधोपुर... की हर खबर, वीडियो और भी बहुत कुछ! 👉

सीकर में 12000 से भी ज्यादा लोग हैं इस ऐप पर, आप भी इस सर्कल का हिस्सा बनें 👉

सर्कल ऐप
इंस्टॉल करें