सातवें वेतन की दूसरी किस्त की मंजूरी के बाद जिले के लगभग 8000 शिक्षकों को मिलेगा लाभ

प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ द्वारा सातवें वेतन की अवशेष दूसरी किस्त के भुगतान की मंजूरी दिए जाने के बाद जिले के लगभग 8000 प्राथमिक ,जूनियर शिक्षकों , शिक्षामित्रों तथा पेंशनरों को बकाया द्वितीय किस्त के भुगतान का रास्ता साफ हो गया है। जिले के 8000 प्राथमिक, जूनियर तथा शिक्षामित्रों का द्वितीय किस्त का सातवें वेतन का एरियर बकाया था। प्रथम किस्त का भुगतान इससे पहले विभाग द्वारा किया जा चुका है। शिक्षकों को द्वितीय किस्त का इंतजार था ।सरकार द्वारा द्वितीय किस्त के बजट की मंजूरी दिए जाने के बाद जिले के लगभग 8000 शिक्षकों के तथा शिक्षामित्रों के सातवें वेतन की दूसरी किस्त के भुगतान का रास्ता साफ हो गया है। जिले के शिक्षकों को सरकार ने 1 जनवरी2016 से सातवां वेतन देने का फैसला किया था किंतु विभाग द्वारा शिक्षकों तथा शिक्षामित्रों को 1 जनवरी 18 से नगद भुगतान किया गया था। इस तरीके से 1 जनवरी 2016 से 31 दिसंबर2016तक एरियर बकाया था। सरकार ने बकाया एरियर दो किस्तों में देने का फैसला किया था। प्रथम किस्त का भुगतान विभाग द्वारा किया गया है ।किंतु द्वितीय किस्त का भुगतान अभी तक नहीं किया गया था। जिले के शिक्षा मित्रों व शिक्षामित्रों तथा पेंशनरों को द्वितीय किस्त का इंतजार था सरकार द्वारा द्वितीय किस्त के भुगतान की मंजूरी दिए जाने के बाद भुगतान का रास्ता साफ हो गया है 2000 शिक्षामित्रों को भी मिलेगा लाभ सातवें वेतन एरियर के भुगतान की दूसरी किस्त की मंजूरी मिलने के बाद जिले के लगभग 2000 शिक्षामित्रों को भी इसका लाभ मिलेगा। जिले में दो चरणों में 2000 शिक्षामित्रों का समायोजन हुआ था प्रथम चरण में 800 तथा द्वितीय चरण में 1200 शिक्षामित्र सहायक अध्यापक पद पर समायोजित हुए थे ।किंतु 25 जुलाई 2017 को शिक्षामित्रों का समायोजन रद्द हो गया था। शिक्षामित्रों ने 1 जनवरी 2017 से 31 दिसंबर 2017 तक बतौर सहायक अध्यापक प्राथमिक विद्यालय में काम किया था। इसलिए इस दौरान उन्हें सहायक अध्यापक के रूप में सातवें वेतन की एरियर का भुगतान भी होना है जिले के लगभग 2000 शिक्षामित्रों को प्रथम किस्त का भुगतान विभाग द्वारा किया जा चुका है उन्हें अब द्वितीय किस्त का भी इंतजार है। शिक्षामित्रों को द्वितीय किस्त में लगभग 32000से 33000 रुपए तक लाभ मिलने की उम्मीद है। शिक्षामित्रों को द्वितीय किस्त का हो नगद भुगतान --धर्मपाल दूरस्थ बीटीसी शिक्षक संघ के जिला अध्यक्ष धर्मपाल यादव ने कहा कि सातवें वेतन एरियर की द्वितीय किस्त का भुगतान प्रथम किस्त का भुगतान नगद किया जाए। प्रथम किस्त में 80% जीपीएफ, एनएससी, पीपीएफ तथा 20% आयकर कटौती के बाद नगद दिया गया था। यही योजना द्वितीय किस्त के लिए भी सरकार अपनाने जा रही है ।हालांकि इस दौरान शिक्षामित्रों को प्रथम किस्त का भुगतान नगद किया गया था। दूरस्थ बीटीसी शिक्षक संघ के जिलाध्यक्ष धर्मपाल यादव जिला मंत्री अर्जुन भारती ने सातवें वेतन एरियर की दूसरी किस्त भी शिक्षामित्रों को नगद भुगतान किए जाने की मांग की है।

X

सर्कल अयोध्या
अपने शहर का अपना ऐप

बीकापुर, मिल्कीपुर, रूदौली, सोहावल… की हर खबर, वीडियो और भी बहुत कुछ! 👉

अयोध्या में 11000 से भी ज्यादा लोग हैं इस ऐप पर, आप भी इस सर्कल का हिस्सा बनें 👉

सर्कल ऐप
इंस्टॉल करें