बीमार वृद्ध से बैनामा कराने को एम्बुलेंस से तहसील लाये,इकलौती पुत्री ने किया हंगामा

चितायन निवासी रामजीत पुत्र नाथूराम की इकलौती संतान के तौर पर एक पुत्री किशन देवी पत्नी स्व.हरीचन्द्र निवासी निहालपुर थाना एलाऊ है.19 जनवरी 2012 को रामजीत ने अपनी पुत्री किशन देवी के नाम अपनी चल और अचल सम्पत्ति की वसीयत कर दी थी.वसीयत कराने के बाद किशन देवी ने अपने बेटे सुरदीप की शादी नीतू पुत्री राजपाल निवासी उद्दैतपुर परमकुटी के साथ यह कह कर की थी कि उसे तीन बीघा जमीन उसके मायके में मिलेगी.वसीयत कराने के बाद किशन देवी का व्यवहार अपने माता पिता की तरफ रूखा हो गया.इसका फायदा उनके छोटे भाई हरपाल ने उठाया.रामजीत के बीमार पडने पर हरपाल ने अपने भाई और भाभी की देखभाल की जिससे उनका झुकाव अपने भाई की ओर हो गया.कुछ दिन पूर्व रामजीत बीमार हुये तो हरपाल ने ही उन्हें सैंफई अस्पताल में भर्ती कराया जहां उनका इलाज चल रहा था.सोमवार को हरपाल ने रामजीत को अस्पताल से डिस्चार्ज कराया और एम्बुलेंस पर लेकर उन्हें तहसील परिसर में उनकी जमीन का बैनामा अपने नाम कराने आ गये.जब बैनामा लेखक उनके प्रपत्र तैयार कर रहे थे तभी उनकी बेटी किशन देवी,बहू नीतू तथा उनकी समधन आ गयीं और दोनों पक्षों के बीच तकरार शुरू हो गई.सूचना पर पुलिस दोनों पक्षों को थाने ले आई.इधर किशनदेवी की मां मुन्नीदेवी ने बताया कि वह किसी भी कीमत पर अपनी बेटी को जमीन नहीं देगी.क्योंकि उसकी बेटी ने उनकी सेवा नहीं की.पुलिस घटना की जांच कर रही है.

X

सर्कल मैनपुरी
अपने शहर का अपना ऐप

मैनपुरी , भोगांव, करहल, किशनी, कुरावली… की हर खबर, वीडियो और भी बहुत कुछ! 👉

मैनपुरी में 24000 से भी ज्यादा लोग हैं इस ऐप पर, आप भी इस सर्कल का हिस्सा बनें 👉

सर्कल ऐप
इंस्टॉल करें