कम्पिल के निकट उल्टी बही थी बूढ़ी गंगा की धार

सोरों(कासगंज)के लहरा से कम्पिल(फर्रुखाबाद)तक बहने वाली बूढ़ी गंगा नदी की सफाई न होने पर अधिक मात्रा में जगह-जगह सिल्ट जमा हो जाने से कम्पिल के कामरुद्दी नगर के निकट मुख्य गंगा का पानी वर्ष 2010 में बूढ़ी गंगा में समा जाने पर धार पूरब से पश्चिम उल्टी दिशा में बही थी जिस कारण नदी किनारे फसलों में सैलाब का पानी घुस जाने पर भीषण तबाही हुई थी।बूढ़ी गंगा की सफाई हो जाने पर सैलाब से निजात मिलेगी।गंगा का जलस्तर बढ़ने कृषि भूमि उपजाऊ होगी फ़सल उत्पादन बढ़ेगा।

X

सर्कल कासगंज
अपने शहर का अपना ऐप

कासगंज, पटियाली, सहावर… की हर खबर, वीडियो और भी बहुत कुछ! 👉

कासगंज में 20000 से भी ज्यादा लोग हैं इस ऐप पर, आप भी इस सर्कल का हिस्सा बनें 👉

सर्कल ऐप
इंस्टॉल करें