कीरत सागर के पास न बना मेडिकल कॉलेज तो कर लूँगा आत्मदाह- आरटीआई कार्यकर्ता

This browser does not support the video element.

महोबा नगर पालिका परिषद में आने वाली बेशकीमती जमीन पर भूमाफियाओं की नजर बनी हुई है । जिसको लेकर मेडिकल कालेज के प्रस्ताव में एक बड़ी अड़चन सामने दिखाई देने लगी है । उत्तरप्रदेश के सीएम योगी आदित्यनाथ के द्वारा महोबा जिले में मिलने वाली मेडिकल कालेज की सौगात को भूमाफिया जिला प्रशासन से मिलकर गुमराह करने में लगे हुए हैं । आरटीआई कार्यकर्ता जीवनलाल चौरसिया ने नगर पालिका की 27 एकड़ जमीन पर भूमाफियाओं की सक्रियता का खुलासा किया है । शहर के कीरत सागर के समीप गाटा संख्या 2408/9, 2422/1 और 2423/1 की खाली पड़ी जमीन पर भूमाफियाओ की नजर है । इससे पहले भी भूमाफिया सरकारी जमीन पर अपना कब्जा दिखा बेशकीमती जमीन को हड़प चुके हैं। अगर यह मेडिकल कालेज शहर की बीचों बीच स्थित कीरत सागर के समीप नगर पालिका की जमीन पर बनता तो लोगों को तमाम सहूलतो के साथ रोजगार के बेहतर अवसर प्रदान हो सकते हैं। उनका कहना है कि पहले इसी जमीन पर प्रस्ताव की बात सामने आई थी मगर इसमें भूमाफियों की नजर ऐसी पड़ी कि डीएम को ही भ्रमित कर दिया जबकि उक्त जमीन नगर पालिका में दर्ज है,आरोप लगाया कि पालिका अध्यक्ष के परिजन इसे अपनी जमीं बताकर जिला प्रशासन से इस जमीन पर प्रस्ताव के लिए रोक दिया है ! ताज्जुब वाली बात यह है कि जिला प्रशासन भी इसको लेकर भटकाव में आ गया है ! ऐसे में अब आरटीआई कार्यकर्त्ता ने भू माफियों के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है ।

X

सर्कल महोबा
अपने शहर का अपना ऐप

महोबा, चरखारी, कुलपहाड़... की हर खबर, वीडियो और भी बहुत कुछ! 👉

महोबा में 5000 से भी ज्यादा लोग हैं इस ऐप पर, आप भी इस सर्कल का हिस्सा बनें 👉

सर्कल ऐप
इंस्टॉल करें