इन्साफ को दर-दर भटक रहीं हैं मारपीट की शिकार महिलाएं

This browser does not support the video element.

एक ही घर में ब्याही दो सगी बहनों की जिंदगी बड़ी दर्दभरी कट रहीं हैं। दोनों बहनों के पतियों ने उनके साथ में छह दिन पहले बेरहमी से धारदार हथियारों से हमला कर घायल कर दिया था। आरोप हैं कि पुलिस ने आरोपियों के खिलाफ में कोई प्रभारी कार्रवाई नहीं की। अब उन्हें घर में भी घुसने नहीं दिया जा रहा है, जिस कारण वे इंसाफ के लिए भटक रही हैं। कैराना क्षेत्र के एक गांव निवासी महिला अपने दिव्यांग भाई के साथ गुरूवार की दोपहर कोतवाली कैराना पहुंची। पीड़ित महिला ने बताया कि वह और उसकी छोटी बहन एक ही घर में दो सगे भाइयों के ब्याही हैं। आरोप हैं कि 14 जून उन दोनों के साथ में उनके पतियों ने लाठी-डंडों और धारदार हथियारों से हमला कर घायल कर दिया था। पुलिस ने उन्हें सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पर उपचार हेतु भर्ती कराया था, जहां से उसे रेफर कर दिया गया था। उसके हाथ में फ्रैक्चर बताया जा रहा हैं। उनका कहना हैं कि कोतवाली पर घटना के संबंध में तहरीर दी गई थी। आरोप हैं कि पुलिस ने कोई प्रभावी कार्रवाई नहीं की। पुलिस ने आरोपियों का मात्र शांतिभंग की आशंका में चालान किया, जिन्हें कोर्ट से जमानत दे दी गई। अब उन्हें घर में भी घुसने नहीं दिया जा रहा हैं। वह कार्रवाई के लिए कोतवाली के चक्कर काट रहीं हैं, लेकिन कोई सुनवाई नहीं हो रही हैं। पीड़िता ने उच्चाधिकारियों को मामले पर संज्ञान लेकर कार्रवाई कराये जाने की गुहार लगाई है। उधर, कोतवाली प्रभारी यशपाल धामा ने पीड़िता को जिला अस्पताल से रिपोर्ट के आधार पर कार्रवाई करने का आश्वासन दिया हैं।

X

सर्कल शामली
अपने शहर का अपना ऐप

शामली, कैराना, उन... की हर खबर, वीडियो और भी बहुत कुछ! 👉

शामली में 7000 से भी ज्यादा लोग हैं इस ऐप पर, आप भी इस सर्कल का हिस्सा बनें 👉

सर्कल ऐप
इंस्टॉल करें