रामकथा में गूँजे जय-जय के नारे

मुजफ्फरनगर के कस्बा जानसठ के गांव मेहलकी में चल रही 9 दिवसीय रामकथा में गुरूवार को कथावाचक बाल साध्वी लक्ष्मी ज्योति ने भरत मिलन, केवट प्रसंग एवं चित्रकुट धाम का विस्तार से वर्णन किया। इस दौरान रामकथा में महिला और पुरूषों ने कथा का श्रवण किया और खूब आनंन लिया।

X

सर्कल मुज़फ्फरनगर
अपने शहर का अपना ऐप

मुज़फ्फरनगर, जानसठ, खतौली, बुढ़ाना... की हर खबर, वीडियो और भी बहुत कुछ! 👉

मुज़फ्फरनगर में 9000 से भी ज्यादा लोग हैं इस ऐप पर, आप भी इस सर्कल का हिस्सा बनें 👉

सर्कल ऐप
इंस्टॉल करें