बाढ़, तबाही और पलायन के लिए मजबूर ग्रामीण, देखे ये वीडियो

This browser does not support the video element.

कानपुर देहात में बाढ़ का कहर जारी है यमुना और सेंगुर नदी का जल स्तर तेजी के साथ बढ़ रहा है। दर्जनों गांवों का संपर्क मार्ग का आवागमन बन्द हो चुका है। लोगो को आने जाने के लिये नांव का सहारा लेना पड़ रहा है। लोग इस समय डर के साए में रहने को मजबूर है। वही जिला प्रशासन भी बाढ़ वाले क्षेत्र में मुस्तैद नजर आ रहा है। और बाढ़ पर नियंत्रण बनाये हुए है दरअसल यमुना और सेंगुर नदी में तेजी के साथ जलस्तर बढ़ रहा है। जिसके चलते मूसानगर क्षेत्र में बाढ़ ने विकराल रूप धारण कर लिया लोगो के घरों में पानी घुसने लगा है। यहाँ फसले बाढ़ में डूब गई है हर जगह पानी ही पानी नजर आ रहा है बिजली के पोल और पेड़ डूबने लगे है। जिसके चलते गाँव के भयभीत है कुछ लोग गाँव छोड़कर सुरक्षित जगह रहने को निकल लिये है। वही गाँव के ग्रामीणों ने बताया कि यमुना और सेंगुर नदी में भीषण बाढ़ आई है लगातार तेजी से पानी बढ़ रहा है। हर साल बाढ़ आने से हम लोगो के घर डूब जाते है। फसले बर्बाद हो जाती है गाँव के बाहर बनी पुलिया छोटी है। अगर इसे बड़ा करके पुल बना दिया जाये तो यहाँ की समस्या खत्म हो जायेगी कई बार जनप्रतिनिधियों से कहने के बाद भी किसी भी जनप्रतिनिधि ने इस समस्या की ओर ध्यान नही दिया है। वही भोगनीपुर तहसील के अधिकारी बाढ़ को देखते हुए मौके पर पहुँच बाढ़ की हालात का जायजा ले रहे है। भोगनीपुर तहसीलदार लालसिंह ने बताया कि बाढ़ को देखते हुए तहसील प्रशासन सतर्क है। बाढ़ क्षेत्रो में चौकी बनायी गयी है और लोगो के आने जाने के लिये नांव की व्यवस्था करा दी गयी है।

X

सर्कल कानपुर
अपने शहर का अपना ऐप

अकबरपुर, घाटमपुर, रसूलाबाद, सिकन्दरा… की हर खबर, वीडियो और भी बहुत कुछ! 👉

कानपुर में 10000 से भी ज्यादा लोग हैं इस ऐप पर, आप भी इस सर्कल का हिस्सा बनें 👉

सर्कल ऐप
इंस्टॉल करें