विद्युत विभाग की लापरवाही से गई बाप-बेटे की जान, अब बिटिया बनेगी अफसर!

This browser does not support the video element.

बीती 5 अगस्त को विद्युत विभाग की लापरवाही के चलते भैंसा गांव में हुई बाप बेटे की मौत के बाद गांव में मातम पसरा है। परिवार में इकलौती बची तो कुंवारी बेटियों के भविष्य को लेकर हर कोई चिंतित है। इसी के चलते आज भारतीय किसान यूनियन के नेताओं ने विद्युत कारपोरेशन के एमडी आशुतोष निरंजन से मुलाकात की। उन्होंने मृतक की ग्रेजुएट पुत्री को विद्युत विभाग में नौकरी दिए जाने की मांग की। जिस पर विद्युत विभाग के एमडी ने मदद का आश्वासन दिया है। बताते चलें कि 5 अगस्त को भैंसा गांव के रहने वाले रघुनंदन शर्मा और उनके पुत्र अंकित शर्मा की जर्जर विद्युत तार की चपेट में आकर मौत हो गई थी। जिसके बाद विभाग के अधिकारियों ने मृतकों के परिजनों को तत्काल 10 लाख का मुआवजा दिया था। रघुनंदन शर्मा की दो कुंवारी बेटियों के भविष्य को लेकर आज भारतीय किसान यूनियन के पदाधिकारी पावर कारपोरेशन के एमडी आशुतोष रंजन से मिले। उन्होंने बताया कि मृतक की बड़ी बेटी बीएससी पास है। उन्होंने ग्रेजुएट बिटिया को विद्युत विभाग में नौकरी दिए जाने की मांग की। जिससे वह अपनी छोटी बहन सहित परिवार का भरण पोषण कर सके। जिसके बाद विद्युत विभाग के एमडी ने विभाग में नियुक्तियों की उपलब्धता को देखते हुए जल्द ही इस विषय में पीड़ित परिवार को मदद दिए जाने का आश्वासन दिया है।

X

सर्कल मेरठ
अपने शहर का अपना ऐप

मवाना, सदर, सरधना, मेरठ... की हर खबर, वीडियो और भी बहुत कुछ! 👉

मेरठ में 4000 से भी ज्यादा लोग हैं इस ऐप पर, आप भी इस सर्कल का हिस्सा बनें 👉

सर्कल ऐप
इंस्टॉल करें