झोलाछाप चिकित्सक नें ली मासूम की जान,परिजनों में कोहराम

निजी अस्पताल के कथित चिकित्सक के सहयोग से जौनपुर जिले के एक अस्पताल में पैर की टूटी हड्डी का ऑपरेशन कराने गए बच्चे की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत हो गई।शव के साथ भेजे गए एंबुलेंस को गांववासियों के सहयोग से पुलिस ने कब्जे में ले लिया है। घटनाक्रम थाना क्षेत्र के बैरागल गांव के सिकंदरपुर पुरवे का है। जहां गांव निवासी विनोद पांडेय के पुत्र आर्यन पांडेय (5 वर्ष) के पंजे की हड्डी घर पर तख्त के गिरने से टूट गई थी। परिवारीजनों ने धवरुआ मुख्य मार्ग पर स्थित एक निजी अस्पताल में बच्चे को भर्ती कराया।इलाज के लिए चिकित्सक ने 20 हजार रुपये जमा कराया और ऑपरेशन के लिए जौनपुर जिले के एक अन्य अस्पताल लेकर गए।आरोप है कि वहां लापरवाही से बच्चे की मौत हो गई। परिवारीजनों को मौत की सूचना न देकर अस्पताल के कर्मचारियों ने बताया कि बच्चे का इलाज अब वाराणसी में कराया जाएगा।एंबुलेंस में बच्चे की दशा देख परिवारीजनों ने जौनपुर स्थित सरकारी अस्पताल में जांच कराई,जहां चिकित्सक ने मौत की पुष्टि की।बच्चे का शव लेकर परिजन एक बजे रात को एंबुलेंस से घर पहुंचे तो ग्रामीणों ने हंगामा करना शुरू कर दिया।पुलिस ने पहुंचकर अस्पताल से भेजी गई एंबुलेंस को कब्जे में भेज दिया। पिता विनोद पांडेय की तहरीर पर पुलिस ने केस दर्ज कर लिया है।थानाध्यक्ष नागेंद्र सरोज ने इसकी पुष्टि किया है।

X

सर्कल अम्बेडकरनगर
अपने शहर का अपना ऐप

अकबरपुर, आलापुर, जलालपुर, टांडा, भीटी… की हर खबर, वीडियो और भी बहुत कुछ! 👉

अम्बेडकरनगर में 10000 से भी ज्यादा लोग हैं इस ऐप पर, आप भी इस सर्कल का हिस्सा बनें 👉

सर्कल ऐप
इंस्टॉल करें