संस्कृत भाषा को जिन्दा रखने के लिए मेडिकल कालेज ने उठाया बेहतरीन कदम

This browser does not support the video element.

शाहजहांपुर संस्कृत भाषा एक ऐसी भाषा है जो देववाणी है। लगभग सभी भाषाओं की उत्पत्ति संस्कृत भाषा से ही हुई है। आज के मॉडर्न युग में हमारी संस्कृत भाषा कहीं खोती सी जा रही है। आज कल के युवा ज्यादातर अंग्रेजी भाषा का ही इस्तेमाल करते हैं। अपनी संस्कृत भाषा को बचाने और इसका प्रचार प्रसार करने के लिए शाहजहांपुर मेडिकल कालेज ने एक छोटा सा प्रयास किया है। जिसके चलते अब अस्पताल की ओ पी डी मे एक रुपये के बनने बाले पर्चे पर हिन्दी के साथ साथ संस्कृत भाषा भी आप को दिखेगी। मेडिकल कालेज की मीडिया प्रभारी डाक्टर पूजा पान्डे ने बताया कि ये मेडिकल कालेज की तरफ से एक बेहतरीन कदम उठाया गया है संस्कृत भाषा को बचाए रखने के लिए। अब मेडिकल कालेज में मरीजों के लिए बनने बाले पर्चों पर संस्कृत में भी लिखा होगा ।

X

सर्कल शाहजहांपुर
अपने शहर का अपना ऐप

शाहजहांपुर, तिलहर, पुवायां, जलालाबाद, सदर… की हर खबर, वीडियो और भी बहुत कुछ! 👉

शाहजहांपुर में 9000 से भी ज्यादा लोग हैं इस ऐप पर, आप भी इस सर्कल का हिस्सा बनें 👉

सर्कल ऐप
इंस्टॉल करें