फसल लीलने को मचलने लगी 'कालिंदी' तटवर्ती गांवों के लोगों में बाढ़ की दहशत

This browser does not support the video element.

मूसलाधार बारिश के बाद अब हथिनीकुंड से पानी छोडे़ जाने पर यमुना के जलस्तर में निरंतर बढ़ोत्तरी हो रही है.खादरों में कालिंदी के प्रवेश करने से किसानों परेशान हैं.उनकी सब्जियों के साथ बाजरा की फसल चपेट में आती जा रही है.किसानों का कहना है कि अगर यमुना जलस्तर लगातार बढ़ रहा है जिससे उनकी खादर में खड़ी फसल यमुना के आगोश में चली जाएगी.यमुना जलस्तर में प्रतिदिन बढ़ोत्तरी हो रही है. यमुना के खादरों में किसानों की फसल तक पानी पहुंच गया है. जल स्तर और बढ़ने से यमुना के खादरों में खड़ी किसानों की सब्जी,बाजरा आदि फसल तक आ गया है.नौहझील के फिरोजपुर,मंगल खोह,अड्डा मैना,अड्डा जाटव आदि के अलावा सुरीर के सुल्तानपुर,सिंहावन,नगला नहारिया,भिदौनी,औहावा,सामोली,इरौली गूजर एवं मांट के गांव भद्रवन,बिजौली,मांट मूला,जहांगीरपुर, बेगमपुर,डांगोली आदि गांवों के खादर में यमुना का पानी फैलने लगा है.जिससे यमुना किनारे खेतों में खड़ी सब्जी एवं बाजरा आदि की फसल जलमग्न होनी शुरू हो गई हैं.ग्रामीणों ने बताया कि पिछले कई दिन से यमुना का जलस्तर लगातार बढ़ रहा है.हथिनी कुंड से छोड़े गए पानी के एक दो दिन में यहां तक पहुंच जाने पर बाढ़ की आशंका दिखाई दे रही है. जिससे उनके सब्जियों के साथ बाजरा आदि की फसल यमुना की भेंट चढ़ जायेगी.गांव सिहावन के टीकम सिंह,भोजराज सिंह एवं धर्मपाल सिंह का कहना है कि यमुना का पानी गांव के नीचे होकर हिलोरें मार रहा है.जिससे लगातार कटान हो रहा है. यमुना किनारे बसे नगला नहारिया में बाढ़ आने पर पानी घुस सकता है.ग्रामीणों ने बताया कि वह यमुना के बढ़ते जलस्तर पर नजर रखे हुए हैं.

X

सर्कल मथुरा
अपने शहर का अपना ऐप

मथुरा, वृंदावन, छाता, महावन, मांट... की हर खबर, वीडियो और भी बहुत कुछ! 👉

मथुरा में 63000 से भी ज्यादा लोग हैं इस ऐप पर, आप भी इस सर्कल का हिस्सा बनें 👉

सर्कल ऐप
इंस्टॉल करें