गीता भवन प्रांगण में नारद भक्ति सूत्र कार्यक्रम का हो रहा है आयोजन

This browser does not support the video element.

गीता भवन पीलीबंगा में जारी नारद भक्ति सूत्र कार्यक्रम के दूसरे दिन मंगलवार को स्वामी गीतानंद जी महाराज व स्वामी महेशानंद जी महाराज ने उपस्थित श्रद्धालुओं को परमात्मा से मिलने की विधि का विस्तार से विवेचन किया। उन्होंने बताया कि हम संसार में परमात्मा को प्राप्त करने के लिए आए हैं परंतु हम नाशवान वस्तु को पाने की इच्छा रखते हैं, जो कि जीव की उन्नति के बाधक हैं। उन्होंने कहा कि परमात्मा हमारा हमेशा भला करता है। जीव पर करुणा करके भगवान जीव को संसार में मानव तन देते हैं। परमात्मा की भक्ति एवं सत्संग से हमे प्रसन्नता मिलती है एवं परम सिद्धि की प्राप्ति होती है। भगवान राम ने भी बाल्मीकि जी के चरणों में प्रणाम किया था। उन्होंने कहा कि अच्छे संतों पुरुषों का संग करोड़ों तप के समान हैं। भजन सत्संग भी भगवान की कृपा के बिना नहीं प्राप्त होता। कथा अमृतपान के समान हैं। संतों ने श्रद्धालुओं के समक्ष आत्मदेव जी व कोकर्ण की कथा का विस्तार से विवेचन किया। इसके साथ नारद की भक्ति व देवी के दर्शन की कथा भी सुनाइ। कथा में गीता भवन ट्रस्ट सचिव श्याम सुंदर शर्मा, सूरजभान बंसल, देवकीनंदन जोहरी, बृजलाल गर्ग, छगनलाल स्वामी, मोहनलाल गर्ग, अमरनाथ गोयल, मदन लाल मरेजा, नरसी पंडित, सुभाष मिश्रा व देवेंद्र पाल का विशेष सहयोग रहा।

X

सर्कल हनुमानगढ
अपने शहर का अपना ऐप

हनुमानगढ़, संगारिया, रावतसर, नोहर... की हर खबर, वीडियो और भी बहुत कुछ! 👉

हनुमानगढ में 10000 से भी ज्यादा लोग हैं इस ऐप पर, आप भी इस सर्कल का हिस्सा बनें 👉

सर्कल ऐप
इंस्टॉल करें