राघवेंद्र सिंह

चाय में ज्यादा चीनी औऱ पत्रकारिता में ज्यादा झूठ, दोनों जिन्दगी खराब कर देते हैं।

X
ऐप इंस्टॉल करें